सिपाही ने एपल के मैनेजर को सिर में गोली मारी

लखनऊ. यूपी पुलिस पर एपल के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी की गोली मारकर हत्या करने का आरोप लगा है। घटना शुक्रवार की रात लखनऊ के गोमतीनगर इलाके में हुई। पुलिस का दावा है कि पूछताछ करने पर कार चला रहे मैनेजर ने भागने की कोशिश की। इस दौरान कार एक दीवार से टकरा गई इसके बाद जख्मी विवेक की इलाज के दौरान मौत हो गई हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में विवेक के सिर में गोली लगने की पुष्टि हुई है। पुलिस ने 2 आरोपी सिपाही संदीप और प्रशांत चौधरी को हिरासत में लिया है। परिवार ने आरोप लगाया कि पुलिस ने हत्या की है। उधर आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी ने कहा कि उसने आत्मरक्षा में गोली चलाई। कार सवार ने हमारी बाइक को टक्कर मारी थी।
मैनेजर के साथ थी सहकर्मी
एसएसपी, कलानिधि नैथानी ने बताया कि मारे गए विवेक तिवारी आईफोन कंपनी एपल में एरिया मैनेजर था। कार में सहकर्मी सना खान भी मौजूद थी। हालांकि अभी मौत की वजह साफ नहीं है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चलेगा कि मौत किस वजह से हुई?
नैथानी ने बताया कि कार रात 1.30 बजे गोमतीनगर इलाके में खड़ी थी। सिपाहियों ने पूछताछ की तो विवेक ने भागने की कोशिश की और गाड़ी दीवार से टकरा गई। फायर करने वाले सिपाही प्रशांत चौधरी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।
विवेक के साथ कार में मौजूद सना खान की शिकायत पर हत्या का केस दर्ज हुआ है। सना ने शिकायत में बताया मैं रात को विवेक के साथ घर जा रही थी सामने से 2 सिपाही आए और रोकने लगे विवेक ने बचने के लिए कार साइड से निकालने की कोशिश की इस दौरान गाड़ी एक बाइक और अंडरपास की दीवार से टकरा गई।
हम पर कार चढ़ाने की कोशिश की गई
आरोपी सिपाही प्रशांत ने कहा हम रात 1.30 बजे गश्त पर थे। तभी हमने पूछताछ के लिए कार सवार को बाहर आने के लिए कहा लेकिन 2-3 बार पुलिस की बाइक पर गाड़ी चढ़ाई। मुझे आत्मरक्षा में मजबूरन गोली चलानी पड़ी इसके बाद कार सवार वहां से भाग गया।
पत्नी ने कहा यह हत्या है
विवके की पत्नी कल्पना ने कहा यह हादसा नहीं है। पुलिस ने विवेक की हत्या की वे अपनी गलती छिपाने के लिए बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। मुझे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जवाब चाहिए आखिर मेरे पति को क्यों मारा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online