मकरसंक्रांति पर नर्मदा घाटों पर 3 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने किया स्नान

होशंगाबाद (जबलपुर) सूर्य के उत्तरायण होने का पर्व मकर संक्रांति पर बुधवार की सुबह श्रद्धालुओं ने मां नर्मदा के घाटों पर स्नान किया और पूजा अर्चना की। होशंगाबाद और जबलपुर में मंगलवार से ही दूर दराज के अंचलों से श्रद्धालु आने शुरू हो गये थे। यहां बंुधवार को भी लोगों के आने का क्रम बना रहा । दोनो स्थानों पर सुबह से ही लगभग 3 लाख से अधिक श्रद्धालु स्नान कर चुके हैं संक्रांति में तिल लगाकर स्नान करने का विशेष महत्व होता हैं।
स्थानीय प्रशासन के अनुसार सुबह से ही अब तक होशंगाबाद के 4 घाटों पर 1 लाख 25 से अधिक श्रद्धालुओं ने स्नान किया हैं। भीड़ को देखते हुए मकर संक्रांति पर 6 अतिरिक्त रेलों का स्टॉपेज होशंगाबाद स्टेशन पर दिया गया है। नर्मदा स्थान के लिये श्रद्धालुओं ने होशंगाबाद के सेठानी घाट, कोरीघाट, ग्वालघाट और पर्यटनघाट पर स्थान किया।
अक्षयपुण्य देने वाला पर्व है मकर संक्रांति
मकर संक्रांति के दिन स्नान, दान के साथ ही भगवान सूर्य देव की पूजा का विशेष महत्व है। पद्म पुराण के मुताबिक, मकर संक्रांति में दाने करने से अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। इस दिन भगवान सूर्य को लाल वस्त्र, गेहूं, गुड़, मसूर, दाल, तांबा, स्वर्ण सुपारी, लाल फूल, नारियल और दक्षिणा आदि देने का शास्त्रों में विधान हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online