सीएए के विरोध में प्रदर्शन पर हाईकोर्ट बोला आप तो ऐसा बर्ताव कर रहे हैं जैसे जामा मस्जिद पाकिस्तान में हो

नई दिल्ली. जामा मस्जिद पर नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में प्रदर्शन के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस के रवैये पर मंगलवार को नाराजगी जाहिर की। दिल्ली पुलिस ने जब कोर्ट से कहा है कि किसी भी प्रदर्शन के लिये इजाजत की जरूरत होती है। इस पर जज कामिनी लाऊ ने कहा है कि कैसी इजाजत? आप ऐसे व्यवहार कर रहे हें, जैसे जामा मस्जिद पाकिस्तान में हो। अगर जामा मस्जिद पाकिस्तान में है, तो भी नागरिकत वहां शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर सकते हैं। लोग सहड़कों पर इसलिये हैं, क्योंकि जो संसद में कहा जाना चाहिये। वहां नहीं कहा जाता।
सबूत पेश नहीं करने पर दिल्ली पुलिस से नाराज है हाईकोर्ट
हाईकोर्ट भीम आर्मी के प्रमुख चन्द्रशेखर रावण की याचिका पर सुनवाई कर रही थी। चन्द्रशेखर को 21 दिसम्बर को दरियागंज इलाके से सीएए के विरोध में प्रदर्शन के बीच गिरफ्तार किया गया था। पुलिस का आरोप है कि चन्द्रशेखर ने भड़काऊ बयान दिये, जिसके बाद प्रदर्शन के दौरान हिंिसा हुई। हालांकि चन्द्रशेखर ने अपनी याचिका में कहा है िकइस बात के कोई सबूत नहीं हैं। फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं। आरोपों के संदर्भ में कोई सबूत पेश न कर पाने पर हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस से नाराजगी जाहिर की है और अब हाईकोर्ट बुधवार को इस मामले में सुनवाई करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online