आतंकियों के साथ थे जम्मू कश्मीर पुलिस के डीएसपी देविंदर सिंह, छिनेगा वीरता पुरस्कार, एनआईए करेगी मामले की जांच

जम्मू कश्मीर. 11 लोगों की हत्या में वांटेड आतंकवादी नवीद बाबा के साथ गिरफ्तार किए गए जम्मू कश्मीर पुलिस के डीएसपी देविंदर सिंह मामले की जांच अब राष्ट्रीय जांच एजंसी (एनआईए) करेगी। पुलिस की जानकारी के अनुसरा राष्ट्रीय जांच एजेंसी हाई प्रोफाइल मामले की अब जांच करेगी। यह भी कहा जा रहा है कि देविंदर सिंह से वीरता पुरस्कार भी छीनने की तैयारी हो रही है।
जानकारी के अनुसार एनआईए टीम सोमवार को श्रीनगर पहुंचने वाली थी लेकिन बर्फबारी के कारण कोई भी फ्लाइट एयरपोर्ट से ऑपरेट नहीं हो सकी इसलिए टीम श्रीनगर नहीं पहुंच पाई। एक पुलिस अफसर ने कहा जैसे फ्लाइट लैंड करेगी तो उनकी ओर से केस को संभाल लिया जाएगा। अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने इस मामले को एनआईए को देने के लिए अपनी सहमति दे दी है जो काजीगुंड पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया है।
एनआईए ने अतीत में कश्मीर में हुए मामलों को संभाला है और उनकी जांच की है जिसमें पुलवामा आतंकी हमला, जम्मू कश्मीर आतंकी फंडिंग मामला, उरी आतंकी हमला और अन्य आत्मघाती हमले जैसे मामले शामिल है। इस बीच पुलिस ने यह भी कहा कि जांच में अब तक पता चला है कि आतंकवादी और अधिकारी चंडीगढ़ के रास्ते में थे और 2 आतंकवादी अपनी पहचान छुपाने के लिए पगड़ी पहने हुए सरदार का रूप धारण किए हुए थे। पंजाब जाने का उनका क्या मंसूबा था उसका अभी भी सुरक्षाबलों द्वारा जांच की जा रही है। पंजाब पुलिस से भी संपर्क किया गया है। यह भी पता चला है कि चंडीगढ़ में किराए के मकान में रहने वाले थे और मौका मिलते ही दिल्ली की ओर बढ़ना था। दिल्ली का प्लान चंडीगढ़ में तय होना था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online