संबल योजना हर गरीब परिवार के लिए नींव का पत्थरः डॉ. सिकरवार

ग्वालियर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा चलाई जा रही संबल योजना के तहत असंगठित मजदूरी कार्ड का वितरण सामुदायिक भवन ओफो की बगिया नाका चन्द्रवदनी में किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि महापौर विवेक शेजवलकर मौजूद रहे। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप मे क्षेत्रीय पार्षद श्रीमती निधि अवधेश कौरव एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पार्षद डॉ. सतीश सिंह सिकरवार ने की।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि महापौर विवेक शेजवलकर ने कहा कि मुख्यमंत्री संबल योजना अनूठी योजना है, यह गरीबों का सीधा भला करने वाली योजना है। भाजपा सरकार ने मजदूरों के लिए दुनिया की सबसे बड़ी योजना ‘संबल’ चलाई जा रही है। इस योजना से गरीब परिवार की जिदंगी में समृद्धि आएगी, मजदूरी करने वाले व्यक्ति और उसके परिवार की जिदंगी बदलेगी। संबल योजना के तहत हर मजदूर का बच्चा निःशुल्क पढ़ेगा एवं अपना और अपने परिवार को निःशुल्क ईलाज करा सकेगा। संबल योजना के तहत कितने ही गरीब परिवार के बिजली बिल माफ किये गये एवं 200 रूपये महिने पर बिजली दी जा रही है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुये पार्षद डॉ. सतीशसिंह सिकरवार ने कहा कि संबल योजना गरीबों के लिए नीब का पत्थर साबित हुई है। संबल योजना में पंजीकृत हर मजदूर अब सरकार की जिम्मेदारी है, इस योजना से मजदूरी करने वाले हर मजदूर को काफी मदद मिलेगी। डॉ. सिकरवार ने कहा कि जो व्यक्ति हमारे घरों, सड़को, फैक्ट्रियों आदि संनिर्माण का कार्य करता है। उस व्यक्ति के पसीने बहाने का सम्मान देने के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा ये संबल योजना चलाई गई है। डॉ. सिकरवार ने संबल योजना की जानकारी देते हुये बताया कि पंजीयन के पष्चात श्रमिक की साधारण मृत्यु पर उसके परिवार को 2 लाख रूपये की आर्थिक सहायता, गंभीर घायल होने पर 5 हजार रूपये से लेकर 20 हजार की आर्थिक सहायता, आंषिक स्थाई अपंगता होने पर 1 लाख रूपये एवं दुर्घटना में मृत्यु होने पर 4 लाख रूपये की सहायता सरकार द्वारा दी जायेगी। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि क्षेत्रीय पार्षद श्रीमती निधि अवधेश कौरव ने कहा कि आज हर मजदूर भाई-बहन संबल योजना में पंजीयन कराकर अपने और अपने परिवार को सुरक्षित कर सकता है। संबल योजना से मजदूर मुसीबत के समय मदद मिलेगी। श्रीमती निधि अवधेश कौरव ने स्मार्ट कार्ड से मिलने वाले लाभों की जानकारी देते हुये यह बताया कि ‘मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना’ के अंतर्गत प्रसूति सहायता, अंत्येष्टि सहायता, अनुग्रह राशि, श्रमिक के बच्चों को पहली कक्षा से पीएचडी. तक निःशुल्क शिक्षा, व्यवसायिक पाठ्यक्रम में प्रवेश, प्रतियोगी परीक्षा हेतु निःशुल्क कोचिंग प्रशिक्षण, उपकरण अनुदान योजनाएं स्वरोजगार हेतु ऋण, सब्सिडी असंगठित श्रमिकों एवं उनके परिवार के निःशुल्क ईलाज की व्यवस्था, ई-रिक्शा एवं हाथ ठेला चलाने वाले को ई-लोडर अनुदान, असंगठित श्रमिकों की आय में वृद्धि हेतु निःशुल्क टेªनिंग की सुविधाएं, पंजीकृत असंगठित श्रमिकों को 200 रूपये माह पर बिजली कनेक्षन जैसी अन्य सरकारी योजनाओं में लाभ मिलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online