स्नेहालय के बच्चों को किसी प्रकार की परेशानी न हो. संभाग आयुक्त

ग्वालियर स्नेहालय के बच्चों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होना चाहिए। उनके खाने, रहने और दवा का पर्याप्त प्रबंधन किया जाए। उनकी देखरेख के लिये 24 घंटे अटेण्डर तैनात रहे। संभागीय आयुक्त बीएम शर्मा ने गुरूवार को स्नेहालय के निरीक्षण के दौरान विभागीय अधिकारियों को यह निर्देश दिए हैं। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर अशोककुमार वर्मा, मानसिक आरोग्यशाला की अधीक्षिका डॉ ज्योति बिंदल, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री शुक्ला, महिला एवं बाल विकास अधिकारी राजीव सिंह सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
स्नेहालय में निवासरत बच्चों के पुनर्वास के लिये शीघ्र व्यवस्था की जाए। इसमें मानसिक रूप से पीड़ित बच्चों को मानसिक आरोग्यशाला ग्वालियर तथा शेष बच्चों को अन्य किसी संस्था में पुनर्वास कराने की व्यवस्था जिला प्रशासन करे। श्री शर्मा ने कहा कि जब तक पुनर्वास की कार्रवाई पूर्ण नहीं की जाती, तब तक बच्चों की देखरेख की समुचित व्यवस्था की जाए। बच्चों को अच्छा और पौष्टिक भोजन मिले, यह सुनिश्चित किया जाए। सभी का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाए। इसके साथ ही सभी को निर्धारित दवा भी समय पर उपलब्ध होए यह सुनिश्चित किया जाए।
लड़के और लड़कियों के लिये पृथक.पृथक अटेण्डर 24 घंटे
संभागीय आयुक्त ने कहा कि स्नेहालय में निवासरत लड़के और लड़कियों के लिये पृथक.पृथक अटेण्डर 24 घंटे उपस्थित रहेंए इसके लिये कलेक्टर अन्य विभाग के अधिकारियों को भी यहाँ पर तैनात करें। बच्चियों की देखभाल के लिये किसी हॉस्टल की अधीक्षिका को भी कलेक्टर यहाँ पदस्थ करें। इसके साथ ही एक कम्पाउण्डर की तैनाती भी की जाए, ताकि सभी को समय पर दवाएँ प्रदान की जा सकें।
संभागीय आयुक्त ने निरीक्षण के दौरान बच्चों के रहने के कमरों, रसोई एवं परिसर का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि कमरों में रोशनी पर्याप्त नहीं है, अतिरिक्त लाईट लगाई जाए। इसके साथ ही बच्चों को प्रतिदिन पौष्टिक भोजन उपलब्ध हो, इस पर भी विशेष ध्यान दिया जाए।
महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री राजीव सिंह ने बताया कि संस्था में 40 बच्चे निवासरत हैंए जिनके स्वास्थ्य परीक्षण का कार्य भी कराया जा रहा है। बच्चों की देखरेख में कोई कमी नहीं रखी जायेगी। सभी के रहने.खाने और स्वास्थ्य का पूरा प्रबंध किया गया है। उन्होंने बताया कि करन नाम के बालक की मृत्यु के संबंध में पोस्टमार्टम कराया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online