देश का सबसे बड़ा बनाने का काम स्विस कंपनी को दिया, रह पीछे अडाणी

नोएडा. देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनाने का जिम्मा स्विटरलैण्ड की कंपनी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल को सौंपा गया है। इसने शुक्रवार को दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डायल), अडाणी इंटरप्रायजेज और एंकोरेज इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट होल्डिंग लिमिटेड जैसी कम्पनियों को पीछे छोड़ा है। जेवर एयरपोर्ट जिसे नोएडा इंटरनेशनल ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट भी कहा जायेगा, का निर्माण 5 हजार हेक्टयर में क्षेत्र में किया जायेगा। इसकी लागत लगभग 29,560 करोड़ रूपये आयेगी। पहले चरण में एयरपोर्ट का विकास 1334 हेक्टर क्षेत्र में किया जायेगा। इस पर 4588 करोड़ रूपये का खर्च आने का अनुमान है। इसके 2023 तक पूरा होने का अनुमान हैं।
एयरपोर्ट प्रबंधन के लिए सरकार ने नायल बनाया
एयरपोर्ट परियोजना के अधिकारी ने बताया कि स्विट्जरलैंड की कंपनी ने राजस्व में हिस्सेदारी के मामले में प्रति यात्री सबसे ऊंची बोली लगाई। इस एयरपोर्ट के प्रबंधन के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड ;नायलद्ध का गठन किया है।
दिल्ली.राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में बनने वाला यह तीसरा एयरपोर्ट होगा। दिल्ली.एनसीआर क्षेत्र में दिल्ली में इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट और गाजियाबाद में हिंडन एयरपोर्ट मौजूद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online