स्नेहालय रेपकांड-मूक बधिर युवतियों के हाथ बांधकर दुष्कर्म को अंजाम देते थे -इशारों में बताया

ग्वालियर. स्नेहालय में मूकबधिर युवती से दुष्कर्म के खुलासे के बाद नित नए खुलासे हो रहे हैं। एक नया खुलासा सामने आया है कि दुष्कर्म से पहले चौकीदार साहबसिंह ने पीडि़ता के हाथ और पैर बांधे थे जिससे वह उसका विरोध नहीं कर सके और उसके इस कृत्य में 4 से 5 लोग शामिल थे। यह खुलासा पीडि़त मूकबधिर युवती ने महिला बाल विकास के काउंसलरों के सामने इशारों में किया है। वहीं स्नेहालय में रहने वाली सभी युवतियां और स्टॉफ डरा हुआ है। इसके लिए काउंसलर उनकी काउंसलिंग कर अन्य जानकारियां एकत्रित कर रहे हैं।
मूकबधिर युवतियों और महिलाओं के लिए संचालित संस्था स्नेहालस में मूकबधिर युवती से दुष्कर्म और गर्भपात कराने के बाद भ्रूण को नष्ट कराने के मामले का खुलासा होने के बाद स्नेहालय के संचालक होने के बाद स्नेहालय के संचालक बीके शर्मा, भावना शर्मा सहित नौ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर आठ आरोपियों को हिरासत में लेकर न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया। वहीं मामले का खुलासा होने के बाद महिला बाल विकास की टीम भी स्नेहालय पहुंची और वहां पर रहने वाली बच्चियों और स्टॉफ से बातचीत की। जिसमें खुलासा हुआ है कि साहब सिंह के साथ ही कुछ और भी लोग वारदात में शामिल हैं। यह दर्द भरी दास्ता पीडि़ता ने इशारों में काउंसलरों को बताई।
बातचीत से कर रहे हैं डर दूर
स्नेहालय में रहने वाली युवतियां और स्टॉफ भयभीत है और काउंसलर उनसे लगातार बातचीत कर उनका डर दूर कर रहे हैं। जिससे मामले में अन्य जानकारियां सामने आ सकें।
चिमनी बनी पहेली
महिला बाल विकास की टीम के लिए यहां पर बेस्टेज को जलाने के लिए लगी चिमनी पहेली बनी हुई है क्योंकि यहां पर मौजूद स्टॉफ यह नहीं बता सका है कि इसमें क्या जलाया जाता था। अब इसकी जांच के बाद ही पता चल सकेगा कि इसमें क्या जलाया जाता था।
वीआईपी रूम एक दूसरे से अटैच
स्नेहालय में ऊपरी मंजिल पर बने वीआईपी रूम की जांच की तो पता चला कि सभी रूम में अटैच बाथरूम बने हुए है जबकि उसमे कमोड नहीं है और सभी रूम एक दूसरे से बाथरूम के साथ अटैच हैं। जब बाथरूम में कमोड ही नहीं है तो फिर यह किसलिए बनाए गए यह टीम की समझ में नहीं आया है। इन रूमों से कुछ ही दूरी पर एक अलग बाथरूम बना हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online