मोदी कैबिनेट-महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश

नई दिल्ली. महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन को लेकर केंद्रीय कैबिनेट की अहम बैठक हुई। शिवसेना को समर्थन देने के मुद्दे पर कांग्रेस और एनसीपी के मंथन के बीच जानकारी के अनुसार राज्यपाल ने राष्ट्रपति शासन की सिफारिश कर दी है। 9 नवंबर को पिछले विधानसभा की मियाद खत्म हुई थी इससे पहले राज्यपाल ने बीजेपी, शिवसेना के बाद एनसीपी को आज शाम 8.30 बजे तक समर्थन जुटाने का समय दिया था लेकिन संभवतः राज्यपाल को ऐसा लगा कि कोई भी दल या गठबंधन स्थिर सरकार बनाने के पक्ष में नहीं है लिहाजा राष्ट्रपति शासन की सिफारिश की।
ब्राजील दौरे पर जाने से पहले कैबिनेट की बैठक हुई
पीएम मोदी ने महाराष्ट्र के सियासी संकट पर कैबिनेट बैठक अपने आवास पर बुलाई। आज दोपहर बाद ब्राजील दौरे पर जाने से पहले कैबिनेट की बैठक हुई। 24 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव नतीजे के 19 दिन बाद भी अभी तक कोई दल बहुमत के लिए जरूरी आंकड़े को राज्यपाल के समक्ष पेश नहीं कर पाया।
महाराष्ट्र की 288 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली थी। चुनाव पूर्व के भाजपा-शिवसेना गठबंधन को स्पष्ट जनादेश मिला था लेकिन शिवसेना के 50-50 फॉर्मूले की मांग के कारण ये गठबंधन टूट गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online