बिजली विभाग के आउटसोर्स कर्मचारियों को नियमित करना मुश्किल, रोडमैप बना रहे- ऊर्जामंत्री

ग्वालियर. प्रदेश के ऊर्जामंत्री प्रियव्रत सिंह ने कहा कि वह बिजली कंपनी के आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए रोडमैप तैयार कर रहे हैं। इन्हें नियमित करना एक मुश्किल कार्य है। मंत्री प्रियव्रत सिंह ने इस मौके पर संबल योजना की गड़बड़ी पर भाजपा पर तीखा हमला किया।
बिजली कंपनी के पूरे रीजन की बैठक लेने आए प्रदेश के ऊर्जा मंत्री ने आज बातचीत करते हुए कहा कि आउटसोर्स कर्मचारियों को नियमित करना मुश्किल काम है। इसमें आरक्षण, शैक्षणिक योग्यता आदि कई विषय है फिर भी हमने एक कमेटी बनाई है जो आउटसोर्स कर्मचारियों की समस्याओं को दूर करने एक रोड़ मैप तैयार कर रही है। उसकी अनुशंसा के आधार पर इनके संबंध में फैसल लेंगे।
मंत्री प्रियव्रत सिंह ने भाजपा सरकार की संबल योजना पर तीखा प्रहार किया और कहा कि भिंड विधायक संजीव सिंह संजू ने भी विधानसभा में बताया था कि कैसे भाजपा के लग्जरी कार में घूमने वाले नेता संबल का लाभ ले रहे हैं साथ ही योजना में अपात्रों ने जमकर लाभ उठाया। अब हम उनका सर्वे करा रहे है। भाजपा ने इस योजना से 65 लाख लोगों को योजना का लाभ लेना बताया था जबकि कमलनाथ सरकार द्वारा लाई गई इंदिरा गृह ज्योति योजना से 97 लाख लाभांवित हो रहे है।
100 यूनिट के सिर्फ 100रु.
प्रदेश के ऊर्जा मंत्री ने कहा कि इंदिरा गृह ज्योति योजना के जरिए 100 युनिट जलाने वालो को सिर्फ 100 रु. देना होंगे। इससे गरीब, मजदूर और सर्वहारा लोग लाभांवित होंगे साथ ही उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में बिजली की कहीं भी कमी नहीं है। कहीं-कहीं कटौती हो रही है तो वह मेंटेनेंस के चलते हैं। ट्रिपिंग और लोड शेडिंग की भी समस्या नहीं है। हमारा पूरा प्रयास है कि हर घर को बिजली मिले।
फॉल्ट, ट्रिपिंग समस्या होगी खत्म
हमारा फोकस अब प्रदेश में बिजली लाइनों को अंडरग्राउंड करने पर है। इसकी शुरूआत भोपाल से होगी इसके बाद ग्वालियर की विद्युत लाइनों को अंडरग्राउंड किया जाएगा। इसे लेकर हम सर्वे करा रहे हैं। ऐसा होने से हमारा ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन लॉसेस कम होगा। फॉल्ट व ट्रिपिंग की समस्या पूरी तरह से खत्म होगी। बिजली चोरी भी बंद होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online