जम्मू कश्मीर की 62 वर्ष पुरानी विधान परिषद समाप्त

श्रीनगर. 31 अक्टूबर को जम्मू कश्मीर और लद्दाख के केन्द्र शासित प्रदेश के तौर पर अस्तित्व में आने से 15 दिन पूर्व ही सरकार ने राज्य की 62 वर्ष पुरानी विधानसभा परिषद को समाप्त कर दिया है। 62 वर्ष पूर्व 1957 में सदन में पारित एक प्रस्ताव के तहत गठित विधान परिषद के समाप्त होने के बाद अब जम्मू कश्मीर में विधानसभा ही रहेगी। 5 अगस्त को जम्मू कश्मीर में धारा 370 समाप्त किये जाने के साथ ही केन्द्र सरकार ने जम्मू कश्मीर पुर्नगठन अधिनियम पारित कर राज्य को 2 केन्द्र शासित प्रदेशों में जम्मू कश्मीर और लद्दाख को विभाजित कर दिया था।

उसी अधिनियम की धारा 57 के तहत जम्मू कश्मीर विधान परिषद को समाप्त कर उसके 116 कर्मचारियों को 22 अक्टूबर तक सामान्य प्रशासन विभाग (जीएडी) को रिपोर्ट करने के लिये कहा है। विधान परिषद को समाप्त करने के आदेश के साथ ही 36 सदस्यीय विधान परिषद के 23 सदस्यों की सदस्यता समाप्त हो गयी है। 13 सदस्य पहले ही रिटायर हो चुके हैं। समाप्त की विधान परिषद में भाजपा के सबसे अधिक 10 सदस्य थे। उसके बाद दूसरा नम्बर 8 सदस्यों के साथ पीडीपी का था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online