मप्र हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े होंगे भारत के अगले सीजेआई

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने न्यायालय में दूसरे वरिष्ठतम जज जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े को अगला सीजेआई बनाने की सिफारिश कानून मंत्रालय को भेजी है। सीजेआई की नियुक्ति का आधिकारिक आदेश राष्ट्रपति भवन से होता है। जस्टिस गोगोई 17 नवंबर को सेवा निवृत्त हो रहे है। जस्टिस बोबड़े 18 नवंबर को सीजेआई बनेंगे उनका कार्यकाल 23 अप्रैल 2021 तक होगा।
शरद अरविंद बोबडे मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के पहले चीफ जस्टिस होंगे जो सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस बनेंगे हालांकि यहां के कई जस्टिस भी सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस बने है। जस्टिस शरद अरविंद बोबडे का पूरा नाम शरद अरविंद बोबड़े है। अगर इनके नाम पर सहमति बन जाती है तो वो 18 नवंबर को अपना कार्यकाल संभाल लेंगे उनका कार्यकाल 23 अप्रैल 2021 तक रहेगा।
मप्र हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस रहे एसए बोबड़े
जस्टिस शरद अरविंद बोबडे अपर न्यायधीश के रूप में 29 मार्च 2000 को बॉम्बे हाईकोर्ट की खंडपीठ का हिस्सा बने। वह 16 अक्टूबर 2012 को मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस बने। 12 अप्रैल 2013 को सुप्रीम कोर्ट में उन्हें पदोन्नत किया गया उसके बाद से वह सुप्रीम कोर्ट में ही जस्टिस है। राम मंदिर मामले की सुनवाई कर रही पीठ में भी जस्टिस एसए बोबड़े है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online