मुन्नालाल गोयल बोले मैं झोपड़ी नहीं तोड़ने दूंगा, जिला प्रशासन के सामने अडे विधायक

ग्वालियर. उच्च न्यायलय के आदेश पर आज शुक्रवार की सुबह 10 बजे से प्रशासन और नगर निगम का अमला 3 जेसीबी मशीन और डम्परों के साथ एक सैकड़ा से अधिक कर्मचारियों व भारी पुलिस बल के साथ सिरोल पहाड़ी पर किये गये अतिक्रमण कर बनाये गये 98 मकानों को हटाने के लिये पहुंच गये। इसमें कई मल्टी भी शामिल है। लेकिन बुलडोजर इन अतिक्रमणों को तोड़ने के लिये अपना मुंह खोलता इससे पहले ही विधायक मुन्नालाल गोयल समर्थकों के साथ मौके पर पहुंच गये और तोड़फोड़ के विरोध में मोर्चा खोलते हुए धरना पर बैठ गये। चूंकि मामला विधायक से जुड़ा था, ऐसे में अधिकारी कोर्ट का आदेश और पुलिस बल साथ होने के बावजूद भी तुड़ाई रोकने पर मजबूर हो गये। लेकिन विधायक शाम 5 बजे तक मौके पर ही समर्थकों के साथ धरना स्थल पर बैठे रहें।
क्या है पूरा मामला
उच्च न्यायालय की ग्वालियर खंडपीठ ने याचिका क्रमांक 1158/2019 पीआईएल अशोक कुमार बनाम मपं्र शासन व अन्य में निर्देश दिये थे कि ग्राम सिरोल के सर्वे क्रमांक 03 व 04 लोगों द्वारा किये गये अतिक्रमण को तत्काल हटाककर न्यायालय को सूचित किया जाये। जिस पर अमल करते हुए आज प्रशासनिक व नगर निगम के अधिकारी मदालखत दस्ते के साथ मौके पर पहुंच गये और कार्यवाही के लिये बुलडोजर व कर्मचारियों को आगे जाने के आदेश दे दिये। लेकिन कार्यवाही शुरू होती उससे पहले ही विधायक मुन्नालाल गोयल मौके पर पहुंच गये और तोड़फोड़ का विरोिध शुरू कर दिया, पहले ही अधिकारियों ने उन्हें समझाने की कोशिश की। लेकिन वह नहीं माने बुलडोजर के सामने ही बैठ गये। उनका कहना था कि गरीबों को किसी भी कीमत पर बेधर नहीं होने दिया जायेगा और इसके बाद सिरोल पहाड़ी के पिछले हिस्से से अतिक्रमण हटाया गया।
पहाड़ी किनारे बने मंदिर को हटाया
3 बजे सिरोल पहाड़ी के पिछले में अतिक्रमण कर बनाये मंदिर और उससे लगे अतिक्रमण और मंदिर को हटाने का काम शुरू किया । अतिक्रमण हटाने वाली टीम का नेतृत्व एसडीएम अनिल बनवारिया, तहसीलदार शिवानी पांडे, मधुलिका तोमर, आरआई शिवदयाल शर्मा होतमसिंह यादव, अजय राणा, राहुल गर्ग और सीएसपी रवि भदौरिया, टीआई प्रशांत यादव पुलिस बल की मौजूदगी में अतिक्रमण हटाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online