ईपीसीए ने डीजल जनरेटर पर लगाया प्रतिबंध, 15 मार्च 2020 तक दिल्ली-एनसीआर में बंद

नई दिल्ली. दिल्ली एनसीआर में आज से प्रदूषण के बढ़ते खतरे को देखते हुए पर्यावरण प्रदूषण प्राधिकरण ने डीजल जनरेटर पर प्रतिबंध लगा दिया है। ग्रेडेड रेस्पॉस एक्शन प्लान अब से 15 मार्च 2020 तक लागू रहेगा ऐसे में दिल्ली-एनसीआर में डीजल जनरेटर का उपयोग नहीं किया जा सकेगा। डीजल जनरेटर के प्रतिबंध से उद्योगों के कामकाज पर असर पड़ेगा साथ ही सोसाइटी में रहने वाले लोगों को भी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। जनरेटर पर बैन को लेकर ईपीसीए ने स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बौर्ड को इस बात का ध्यान रखने की हिदायत दी है कि जिन जगहों पर जरूरत है वहां इलेक्ट्रिसिटी की उपलब्धता ठीक तरह से की जाए ताकि लोगों को परेशानी ना हो। पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण और संरक्षण प्राधिकरण के ग्रेप लागू करने की वजह दिल्ली-एनसीआर की हवा का एयर क्वॉलिटी इंडेक्स रेड जोन में पहुंचना है।
अधिकारियों को दी हिदायत, ग्रेप के क्रियान्वयन में ढिलाई न बरते
अधिकारियों को इस बात की हिदायत दी गई है कि ग्रेप के क्रियान्वयन में किसी तरह की ढिलाई न बरती जाए इसके साथ ही होटल, रेस्तरां व ढाबों में कोयला और लकड़ी नहीं जलाई जा सकेगी वहीं पार्किंग के दरों में भी इजाफा किया गया है और लोगों को पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग करने की भी सलाह दी गई है ।
प्रदूषण की रोकथाम के लिए उठाए जा रहे कदम
धूल प्रभावित क्षेत्रों में पानी का छिड़काव
करीब 305 किलोमीटर की सड़क को डस्ट फ्री जोन बनाया
लगातार शहर में किया जा रहा प्लांटेशन
कूड़ा जलाने पर भारी भरकम लगाया जा रहा जुर्माना
कंस्ट्रक्शन साइटों को तीन दिन में मलबा हटाने के निर्देश
शहर में कंस्ट्रक्शन साइटों को ग्रीन शीट से ढकने के निर्देश
बढ़ाई जा सकती है पार्किंग दरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online