ग्वालियर में 87वाँ वायुसेना दिवस समारोह

ग्वालियर भारतीय वायु सेना ने गत दिवस अपनी 87वीं वर्षगांठ मनाई। भारतीय वायुसेना का गठन इस दिन 1932 में हुआ था। इन 87 वर्षों के अस्तित्व में और गतिशील रूप में विकसित हुई है। अत्याधिक सक्षम भारतीय वायु सेना और दुनिया में चौथी सबसे बड़ी वायुसेना है । भारतीय वायुसेना ने हमेशा हर समय राष्ट्र की रक्षा को सर्वोपरि रखने का अपना उद्देश्य प्राप्त किया और विभिन्न राहत कार्यों के दौरान नागरिकों को बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

बालकोट में सफल व प्रभावी एयर स्ट्राइक के लिए बधाई दी
इस विशेष अवसर पर भारत के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री ने भारतीय वायुसेना को निरंतर उपलब्धियों के लिए और दुश्मन के खिलाफ कार्रवाई के दौरान उच्च स्तर को बनाए रखने के लिएए बालकोट में सफल व प्रभावी एयर स्ट्राइक के लिए बधाई दी।

वायुसेना स्टेशन महाराजपुर ग्वालियर की 87वीं वर्षगांठ मनाई
वायुसेना स्टेशन महाराजपुर ग्वालियर ने भी भारतीय वायुसेना की 87वीं वर्षगांठ मनाई एवं विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर एयर कोमोडोर विक्रम गौर, बीएसएम, एयर ऑफीसर कमांडिंग ने वायुसेना कर्मियों को संबोधित किया और पुरस्कार विजेताओं को सम्मानित किया। अपने संबोधन में उन्होंने देश के प्रति अपने कर्तव्य के लिए भारतीय वायुसेना कर्मियों के समर्पण की सराहना की। उन्होंने पर्यावरण और सुरक्षा के प्रति और अधिक संवेदनशील होने की भी सलाह दी। एओसी और अध्यक्ष अफवा श्रीमती मालविका गौर ने भारतीय वायुसेना कार्मिकों और उनके परिवार के सदस्यों के लिए अपनी शुभकामनाएं दी।
परेड की कमान ग्रुप कैप्टन एके बुद्धवार ने संभाली और समारोह का क्रियानवयन ग्रुप कैप्टन जीएससिद्दू की निगरानी में हुआ। होली स्क्वायर परेड में वायुसेना स्टेशन ग्वालियर के सभी कार्मिकों ने भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online