अक्टूबर में होगी भारत-चीन समिट, पीएम मोदी ने दिया चीनी राष्ट्रपति को आमंत्रण

नई दिल्ली. भारत और चीन के बीच दूसरा अनौपचारिक शिखर सम्मेलन 11-12 अक्टूबर को चेन्नई में आयोजित होने जा रहा है। इस सिलसिले में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग भारत के दौरे पर आएंगे और चेन्नई में पीएम मोदी के साथ मीटिंग करेंगे। इस सिलसिले में विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा प्रधानमंत्री के आमंत्रण पर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग दूसरे अनौपचारिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए चेन्नई आएंगे। इससे पहले भारत में चीन के दूत सुन वाईडोंग ने कहा हमारे नेताओं के नेतृत्व में हालिया दौर में चीन और भारत के संबंधों में सतत प्रगति हुई है। वुहान अनौपचारिक मीटिंग के सकारात्मक प्रभाव को आगे बढ़ाने की दिशा में आगे बढ़ेंगे।
पहला अनौपचारिक शिखर सम्मेलन चीनी शहर वुहान में हुआ
2017 के डोकलाम संकट की पृष्ठभूमि मे पिछले साल वुहान में भारत और चीन के बीच पहला अनौपचारिक शिखर सम्मेलन चीनी शहर वुहान में हुआ था। उस दौरान दोनों ही नेताओं ने रणनीतिक सलाह दी थी ताकि दोबारा डोकलाम जैसा संकट उत्पन्न नहीं हो सके इसके अलावा सांस्कृतिक स्तर पर भारत-चीन हाई-लेवल मैकेनिज्म का गठन और दोनों देशों के लोगों के बीच संपर्क बढ़ानें पर जोर देने पर सहमति बनी थी।
ये पहली बार नहीं है कि चीन के राष्ट्रपति ने दक्षिण भारत की यात्रा की है। पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के पहले प्रीमियर झू एनलाई ने दक्षिण भारत की यात्रा की थी। एनलाई 5 दिसंबर 1956 को दो दिवसीय दौरे पर तमिलनाडु गए थे उस दौरान महाबलीपुरम, जेमिनी स्टूडियो और एक कोच फैक्ट्री भी देखने गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online