प्राकृतिक तत्वों का अत्याधुनिक दोहन ही समस्या का कारण . प्रद्युम्नसिंह तोमर

ग्वालियर प्रदेश के खाद्य नागरिक, आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री प्रद्युम्नसिंह तोमर ने कहा कि प्राकृतिक तत्वों का अत्याधुनिक दोहन आज के वातावरण की समस्या का मुख्य कारण है। पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए हमें अपने बेटा.बेटी के सामान ध्यान एवं महत्व देने की आवश्यकता है।
शनिवार को कॉलेज आफ लाईफ साइंसेस द्वारा कैन्सर चिकित्सालय स्थित शीतला सहाय सभागार में एक दिवसीय राष्ट्रीय सेमीनार का आयोजन ‘‘ष्करन्ट रिसर्च इन इंनवारयमेंट एण्ड संसटेनेबल डवलपमेंट’’ विषय पर किया गया । कार्यक्रम का शुभांरभ मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर एवं विशिष्ट अतिथि डॉण् राजेश बालकृष्णन वजिर्निया यूनीवर्सिटी द्वारा सरस्वती वंदना के साथ किया । डॉण् अर्चना श्रीवास्तव के द्वारा सभी अतिथियों का परिचय एवं सेमिनार के बारे में सक्षेप जानकारी दी। अध्यक्षीय भाषण संरक्षक डॉण् बीआर श्रीवास्तव के द्वारा दिया गया।
प्रदेश के खाद्य मंत्री ने कहा कि पेड़ों की कटाई के अनुपात में पेड़ नही लगाए जा रहे हैं। जिस प्रकार हम अपने बेटा.बेटी के लिए अच्छा वातावरण चाहते हैं उसी प्रकार प्रकृति से भी हमें प्यार करना पडेगा। हम ज्यादा से ज्यादा पेड योजनाबद्ध तरीके से लगायें। पहले कैंसर के मरीज बहुत कम मिलते थे पंरतु आज केंसर के मरीज अधिक संख्या में बढ़ रहे हैं।
विशिष्ट अतिथि डॉण् राजेश बालकृष्णन वजिर्निया यूनीवर्सिटी ने बताया कि आज के समय में पर्यावरण प्रदूषण की समस्या का समाधान करने के लिये ऐसी तकनीक की आवश्यकता है जो कि सतत् व सस्ती हो व इस समस्या को कम करने में मदद कर सके।
कार्यक्रम में विषय विशेषज्ञ के रुप में डॉ ओपी अग्रवाल जीवाजी यूनिवर्सिटी, डॉ अशोककुमार जैन जीवाजी यूनिवर्सिटी, डॉ  आरएस तोमर अमेटी यूनिवर्सिटीए डॉ व्ही कोम्बोज डीआरडीई ग्वालियर तथा प्रोण एसपी बाजपेयी, अमेटी यूनिवर्सिटी ने विषय के बारे में विस्तृत रुप से चर्चा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online