न्यायमूर्ति आनंद पाठक ने बिलौआ विद्यालय में कक्षा.6 की छात्राओं को पढ़ाया

ग्वालियर विद्या का दान सबसे बड़ा दान माना गया है। यह ऐसा दान है इसे जितना बांटो उतना बढ़ता है। ग्वालियर प्रशासन द्वारा श्विद्यादान एक संकल्प.एक पहलश् के तहत अभियान संचालित किया जा रहा है। इस अभियान के तहत प्रशासनिक अधिकारी, जनप्रतिनिधि, माननीय न्यायाधीशगण सहित प्रबुद्ध नागरिक शासकीय विद्यालयों में जाकर बच्चों को पढ़ाने का कार्य कर रहे हैं। शनिवार को उच्च न्यायालय ग्वालियर के न्यायमूर्ति आनंद पाठक ने शासकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय बिलौआ में विद्यादान किया।
न्यायमूर्ति आनंद पाठक ने कक्षा.6 के विद्यार्थियों को सामाजिक विज्ञान विषय के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की। उन्होंने भारत व विश्व के मानचित्रों के माध्यम से बच्चों को अपने आस.पास के परिवेश एवं देश.विदेश की जानकारी ग्रहण करने की विधि भी समझाई। भूगोल विषय में ग्वालियर शहर की भौगोलिक स्थिति से प्रारंभ कर पूरे देश एवं देश के राज्यों व राजधानियों को बहुत ही सरल तरीके से समझाया।
न्यायमूर्ति आनंद पाठक ने छात्राओं से कहा कि हँसी उड़ने के डर से अपनी जिज्ञासा को कभी कम न होने दें। जानकारी न होने पर प्रश्न पूछकर जानकारी हासिल करने की आदत को हमेशा बनाए रखें। उन्होंने कहा कि कक्षा में हमेशा एकाग्रतापूर्ण शिक्षा ग्रहण करने से बताई गई बातें लम्बे समय तक याद रहती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online