इनकम टैक्स का छापा-टैक्स चोरी के शक में 5 व्यापारियों के ठिकानों पर छापे, हुए कई खुलासे

रायपुर. टैक्स चोरी के मामले में आयकर विभाग ने बुधवार को छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के 5 व्यापारियों के ठिकानों पर एक साथ छापेमार कार्यवाही की है, जो कि अभी भी जारी है। इस छापेमार कार्यवाही में विभाग ने रियल एस्टेट, गुटखा और इस्पात के बड़े व्यापारियों के ठिकानों पर एक साथ दविश दी है। जिसमें अभी तक हजारों करोड़ के अवैध निवेश और फर्जी कंपनियों का खुलासा हो चुका हैं। वहीं, 3.75 करोड़ की ज्वेलरी भी आयकर विभाग ने सीज की है। आयकर विभाग ने अग्रवाल बाधवानी समूह के 26 से अधिक आवासीय परिसरों में जांच की है। जिसमें 50 करोड़ से अवैध निवेश का खुलासा हुआ है, इसके अलावा 12 में से 9 बोगस कंपनियों का भी खुलासा हुआ है यहीं नहीं वाधवानी-अग्रवाल समूह के मप्र और छत्तीसगढ़ में कई बड़ी प्रॉपर्टीज के दस्तावेज भी मिले हैं।
एमपी और सीजी व्यापारियों में हडकंप मचा हुआ
आपको बता दें कि आयकर विभाग की इस छापेमार कार्यवाही से पूरे मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के बड़े व्यापारियों में हडकंप मचा हुआ है। रायपुर और जबलपुर की संयुक्त टीम की इस कार्यवाही में आयकर विभाग ने बुधवार की देर रात 50 ठिकानों पर एक साथ छापा मारा। मप्र और छत्तीसगढ़ के अलग अलग शहरों में यह कार्यवाही आज भी जारी रहेगी। अग्रवाल समूह के जिन ठिकानों पर कार्यवाही चल रही है। उनमें एमएस एंगल्स, बिलेट फैक्ट्रियां शामिल हैं।
आय से अधिक संपत्ति का खुलासा, 90 करोड़ का टर्नओवर
वहीं, वाधवानी समूह के भी आधा दर्जन से अधिक ठिकानों पर कार्यवाही चल रही है। वाधवानी समूह की रायपुर में आइसक्रीम फैक्ट्री है। जिनके आवास सफायर ग्रीन, चौबे कॉलोनी आउट वल्फोर्ट के ठिकानों पर छापा पड़ा है। छापामार टीम में 200 से अधिक अधिकारी शामिल हैं। कार्यवाही को बेहद गोपनीय रखा जा रहा है। ऐसा बताया जा रहा है कि आयकर विभाग के अधिकारियों ने यहां कई दस्तावेजों की पड़ताल की हैं। जिसमें बड़े पैमाने पर आय से अधिक संपत्ति का खुलासा हुआ है। इसके अलावा और कई बड़े खुलास होने की संभावना जताई जा रही है। विभाग ने जिन कंपनियों पर छापा मारा हैं। उनका टर्नओवर 90 करोड़ से अधिक बताया रहा हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online