हाईप्रोफाइल हनीट्रैप मामला- आईएएस और आईपीएस और नेताओं के भी वीडियों हैं

भोपाल. नेताओं और अधिकारियों को ब्लैकमेल कर करोड़ों वसूलने वाली 5 महिलाओं के बारे में चौकाने वाली जानकारियां सामने आई है। सूत्रों के अनुसार पुलिस और एटीएस को मालूम पड़ा है कि इन महिलाओं ने लगभग 20 लोगों को अपने जाल में फंसाकर उनके आपत्तिजनक वीडियों बनाये और इन्हें वायरल करने की धमकी देकर उनसे लगभग 15 करोड रूपये की वसूली की है। किसी से 50 लाख तो किसी से 3 करोड़ रूपये तक की वसूली की गयी है। इनसे जब्त मोबाइल और 8 सिमों की जांच में लगभग 90 वीडियों मिलने की जानकारी हैं। इनमें से 30 वीडियो आईएएस, आईपीएस अधिकारियों और नेताओं के हैं। फिलहाल पुलिस ने इन्हें रिकॉर्ड में नहीं लिया है, अभी फोरेंसिक जांच के लिये भेजा गया हैं।
ग्वालियर से नाता है स्वप्निल का
यह भी चर्चा है कि अधिकतर वीडियो श्वेता जैन पति विजय और श्वेता जैन पति स्वप्निल के हैं। ऐसा बताया गया है कि आज से एक माह पूर्व ग्वालियर की सचिन तेंदुलकर मार्ग स्थित अपार्टमेंट में ठहरी हुई थी और यहां एक नगरनिगम इंजीनियर के संपर्क में थी और शाम को जीवाजी विश्वविद्यालय में वॉक करती थी। पुलिस इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रही है कि वह यहां पर किस इंजीनियर के संपर्क में थी। इनसे जुडी 5-6 लड़कियां और हैं जो इनके साथ रैकेट में काम करती है। इन्हीं में से कुछ व्यक्तिगत तौर पर भी नौकरशाही और नेताओं के बीच दखल बढाना शुरू किया है। वीडियों में राज्य सेवा से जुडे कई अधिकारी प्रमोटी आईएएस और उद्योगपतियों के भी होने का अंदेशा है। जिसकी पड़ताल की जा रही हैं। कोर्ट ने श्वेता पति विजय जैन, श्वेता पति स्वप्निल जैन और बरसा अमित सोनी को नियम इंजीनियर से 3 करोड़ की डिमाण्ड करने के मामले में जेल भेज दिया। जबकि इन्य आरोपी आरती दयाल, छात्रा मोनिका यादव और ड्रायवर ओमप्रकाश 22 सितम्बर तक इन्दौर पुलिस की रिमाण्ड पर हैं।
फंसे अधिकारी भोपाल और इन्दौर के हैं
अधिकतर राज्य सेवा के अधिकारी इन्दौर और भोपाल में पदस्थ रहे हैं। एडीजी स्तर के एक पुलिस अधिकारी पूर्व में इन्दौर पोस्टिंग के दौरान इन महिलाओं के अधिक संपर्क में हैं। महिलाओं की इन अधिकारियों से मुलाकात भोपाल के एक नामी पुराने होटल के साथ इन्दौर भोपाल के फार्म हाउस में हुई। श्वेता जैन और पति स्वप्निल का भोपाल में एक नामी क्लब में खासा आना जाना रहा । यहां भी यह दोनों अधिकारियों को जाल में फांसने का काम करते थे। जिस रात पुलिस ने ब्लैकमेलर महिलाओं को हिरासत में लिया, उसके दूसरे ही दिन स्वप्निल को सुबह के समय इसी क्लब में देखा गया। एक पूर्व मंत्री के साथ एक महिला भारत के बाहर भी घूमने जा चुकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online