ऑर्डिनेंस डिपो की चोरी का मामला- इंडियन मुजाहद्दीन के आतंकियों को बेचता एके-47, मुंगेर ले जाकर बेची गयी 70 राइफलें

जबलपुर. सेन्ट्रल ऑर्डिनेंस डिपो (सीओडी) में एके-47 चोरी की जांच करने गयी पुलिस की टीम को इस संस्थान की बाउंड्रीवॉल में एक बड़ा छेछ मिला है। आरोपी सुरेश ठाकुर सेन्ट्रल ऑर्डिनेंस डिपो के आरएसएसडी वर्कशॉप का सीनियर इंचार्ज ने पेड़ की आड़ में बाउंड्रीबॉल में बनाये गये छेद से आना जाना करके कई एके-47 चोरी करना स्वीकार किया है। पुलिस ने एके-47 चोरी व तस्करी के मामले में यह नया खुलासा किया है। आरोपियों से पूछताछ जारी है।
पुलिस ने बताया कि आरोपित एके-47 चोरी कर सेना के सेवानिवृत्त आर्मरर पुरूषोत्तम रजक के हवाले कर देता था, इसमें आरोपित सुरेश की 2-3 अन्य लोग भी मदद करते रहें। जबकि पुलिस सुरेश के साथियों का पता कर रही है। आरोपी पुरूषोत्तम एके-47 की जांच करके उन्हें दोबारा उपयोग करने लायक बनाता रहा। उसने अपनी पत्नी चन्द्रवती, बेटे शीलेन्द्र की दद लेकर 6 वर्ष के दौरान 70 से अधिक एके-47 जबलपुर से मुंगेर ले जाकर बेची है।
आरोपियों ने कबूला जुर्म
पुलिस ने आरोपी सुरेश ठाकुर, पुरुषोत्तम रजक, उसके बेटे शीलेन्द्र रजक को कोर्ट से 8 दिन की रिमांड पर लिया है। सभी आरोपितों को 6 से 14 सितंबर तक गोरखपुर थाने में रखकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस रिमांड में आरोपितों ने अपने जुर्म कबूल कर लिए। साथ ही, पुलिस ने 3 डायरियां जब्त की हैं। इसमें कई अहम सुराग पुलिस के हाथ लगे हैं।

एके-47 आतंकियों को बेची गयी
मुंगेर  में 3-3 एके-47 समेत अरेस्ट किये गये आरोपित इमरान, शमशेर और नियाजुल हसन से पुलिस के पूछताछ का सिलसिला जारी है। इन आरोपियों ने कई एके-47 इंडियन मुजाहद्दीन के आतंकियों, डी-कंपनी और नक्सलियों को बेचना स्वीकार किया है। मुंगेर पुलिस इन आरोपियों को जब भी न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजेगी। जबलपुर पुलिस उन्हें प्रोटेक्शन वारंट पर यहां लाकर के पूछताछ करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online