बैडमिंटन-जापान की पूर्व चैम्पियन ओकुहारा को फायनल में हराकर पीव्ही सिंधु बनी वर्ल्ड चैम्पियन

स्विट्जरलैड बासेल. भारत की स्टार शटलर पीव्ही संधु ने रविवार को वर्ल्ड बैडमिटन चैम्पियनशिप के फायल में जापना की नोजोमी ओकुहारा को हरा दिया। सिंधु ने स्विट्जरलैंड के बासेल में हुआ खिताबी मुकाबला 21-7, 21-7 से 38 मिनटमें अपने नाम कर लिया है। वह इस टूर्नामेंट के 42 वर्ष के इतिहास में चैम्पियन बनने वाली पहली भारतीय बन गयी है। सिन्धु 2018, 2017 में रजत और 2013, 2014 में कांस्य पदक जीती थी।
इससे पूर्व भारतीय खिलाडि़यों में साइना नेहवाल 2015 के फायनल में हाइ गयी थी। पुरूषों में 1983 में प्रकाश पादुकोण और इस साल बी सांई प्रणीत कांस्य पदक जीते थे। ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी 2011 में महिला डबल्स में
कांस्य जीती थी।
पीएम मोदी ने पीव्ही संधु को दी बधाई
पीएम नरेन्द्र मोदी ने सिंधु को इस जीत पर बधाई दी है। उन्होंने कहा है कि आश्चर्यजनक रूप से प्रतिभाशाली पीव्ही सिंधु ने फिर भारत को गर्व महसूस कराया। बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड चैम्पियनशिप में गोल्ड जीतने के लिये उन्हें बधाई। जिस जुनून और लगन से वह बैडमिंटन खेलती है। वह प्रेरणा देन वाला है। सिंधु की सफलता अगली पीढ़ी के खिलाडि़यों को प्रेरणा देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online