कश्मीर मुद्दे पर यूएनएससी की बैठक में चीन को छोड़कर सभी देशों ने दिया भारत का साथ

संयुक्त राष्ट्र. कश्मीर के मुद्दे को पाकिस्तान की शह पर चीन ने यूएनएससी में उठाया। चीन के कहने पर एक बंद कमरे में इस मुद्दे पर शुक्रवार की शाम बैठक हुई। शाम 7.30 बजे से शुरू हुई यह बैठक लगभग 9 बजे के बाद तक चली। इस मीटिंग में इस मुद्दे पर कुल 73 मिनट चर्चा हुई। इस मीटिंग से पहले ही भारत को रूस का साथ मिला।
मुद्दा सुलझेगा तो भारत-पाकिस्तान की आपसी बातचीत से
यूएन में रूस के स्थायी प्रतिनिधि देमित्री पोलिंस्की ने कहा कश्मीर का मुद्दा हल करने में यूएनएससी की कोई भूमिका नहीं हो सकती है उन्होंने कहा यह मुद्दा अगर सुलझेगा तो भारत और पाकिस्तान की आपसी बातचीत के साथ ही सुलझेगा। रूस का इस मसले पर हमेशा से ही यही रूख रहा है। रूस ने कहा हमारा इस मुद्दे पर कोई छिपा हुआ एजेंड़ा नहीं है दोनों देशों से हमारे अच्छे संबंध है ऐसे में हम चाहते हैं कि यह मुद्दा यही दोनों देश बातचीत से सुलझाएं।
अनुच्छेद 370 हटाना भारत की एकतरफा कार्यवाही- चीन
वहीं इस मुद्दे पर चीन अपनी चालबाजी से बाज नहीं आ रहा है उसने यूएनएससी की अनौपचारिक बैठक में कहा कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाना भारत की एकतरफा कार्यवाही है हालांकि भारत पहले ही चीन को दो टूक में कह चुका है कि कश्मीर का मुद्दा भारत का अंदरूनी मसला है उसने जम्मू कश्मीर और लद्दाख में जो परिवर्तन किए है उससे किसी भी सीमा पर कोई छेड़खानी नहीं की गई है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रतिनिधि सैय्यद अकबरुद्दीन ने कहा अनुच्छेद 370 को हटाया जाना हमारा आंतरिक मुद्दा है इसे वहां के लोगों की भलाई के लिए हटाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online