देशभर में इलाज करा पायेंगे सेवानिवृत्त रेल कर्मचारी-शैलेन्द्र श्रीवास्तव

ग्वालियर. रेलवे कर्मचारियों के सेवा निवृत्त और वर्तमान में कार्यरत कर्मचारियों के परिवारों को स्वास्थ्य लाभ देने के लिये एक अच्छी पहल की है जिससे यह कर्मचारी पूरे देश भर में अपने परिवार का उपचार कहीं भी करा पायेंगे। इस पहल के सूत्रधार हैं इलाहाबाद मुख्यालय के प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी डॉ. श्रीप्रकाश हैं और वरिष्ठ मण्डल कार्मिक अधिकारी उल्लास कुमार के मार्गदर्शन में सहायक कार्मिक अधिकारी शैलेन्द्र श्रीवास्तव की देखरेख में ग्वालियर रेलवे परिसर लोको विभाग के नजदीक सामुदायिक भवन में खुशनुमा माहौल में ऑनलाईन मेडीकल कार्ड बनाने का शिविर आयोजित किया है। जहां पर ठण्डी- ठण्डी हवाओं के बीच पहले कुर्सी पर बैठाया गया और ठण्डा पानी पिलाया और फिर सेवानिृत्त कर्मचारियों से बिना किसी कागजात लिये उनकी जिज्ञासाओं समाधान करते हुए यूनिक मेडीेकल आइडेंटिटी कार्ड के रजिस्ट्रेशन किये गये। जिससे पूरे देशभर में चिकित्सा सुविधाओं का लाभ ले पायेंगे।
आपको बता दें कि इस तरह नजारा रेलवे विभाग के किसी कार्यक्रम में पहली बार देखने को मिला रेलवे अधिकारी सेवानिवृत्त कर्मचारियों की समस्या बड़े धैर्यपूर्वक सुन रहे थे और उनके मेडीकल कार्ड के रजिस्ट्रेशन कर बता रहे थे कि आपके कार्ड जल्दी ही आपके हाथों में होंगे। शिविर में वेलफेयर इंस्पेक्टर व्हीएस कंसाना, कर्मचारी एवं कल्याण निरीक्षक कैलाश मर्सकोले आदि शामिल रहें।
भूरा उम्र 63 रेलवे लोको विभाग से 2015 में वेल्डर के पद से सेवानिवृत्त हुए थे मैं बहुत ही सुखद माहौल का अनुभव कर रहा हूं रेलवे अधिकारियों ने हमारी बात को धैर्यपूर्वक सुना, अब मैं आश्वस्त हूं कि मुझे मेरा मेडीकल कार्ड जल्दी मिल जायेगा।
हमीर मिर्जा, आयु 73 वर्ष लोको विभाग से 2006 में मशीनमैन के पद से सेवा निवृत्त हुआ हूं मेरे पास अभी पुराना कार्ड हैं लेकिन मेरा मेडीकल कार्ड ऑनलाईन बनने जा रहा हैं जिससे मैं अपने परिवार का इलाज पूरे देश में कहीं भी करा सकूंगा।
निहालचंद उम्र 79 वर्ष मैं सन् 2000 मे सेवानिवृत्त हुआ हूं और अब मुझे ठीक से दिखाई सुनाई नहीं देता हूं और मेरे पास पेसे भी नहीं अब मेरा मेडीकल कार्ड ऑनलाइन बनने जा रहा हैं जिससे मैं पूरे देश में कहीं अपना और परिवार का इलाज करा पाऊंगा। लेकिन मैं इतना कहना चाहता हूं कि मुझे पहली बार ऐसा सकारात्मक सोच वाला नजारा देखने का मिला हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online