सीएमओ को 1.17 लाख की रिश्वत लेते लोकायुक्त टीम ने दबोचा

ग्वालियर. ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस ने गुरूवार की शाम शिवपुरी शहर के टूरिस्ट विलेज होटल में पिछोर नगर परिषद के सीएमओ को 1 लाख 17 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया। इस मामले में रिश्वत देने वाला कोई और नहीं बल्कि नगर परिष्द पिछोर अध्यक्ष का पुत्र ही है। सीएमओ ने यह रिश्वत लगभग 1.50 करोड़ रूपयों के कार्यों के वर्कऑर्डर देने के बदले में मांगी थी। पूरे घटनाक्रम में सीएमओ रिश्वत लेने के बाद भी स्वयं को बेकसूर बताया और इस मामले को षड़यंत्र बता रहे हैं।
1.50 करोड़ के वर्कऑर्डर जारी करने के एवज में रिश्वत मांगी
लोकायुक्त निरीक्षक कविन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि 10 जुलाई को नगर परिषद पिछोर के अध्यक्ष संजय पाराशर के पुत्र मयंक पाराशर ने ग्वालियर कार्यालय में शिकायत दर्ज कराई थी कि 1.50 करोड़ के कामों के वर्कऑर्डर करने की एवज में सीएमओ सुधी पुत्र स्व. दिनेश चंद्र मिश्रा 1.17 लाख रुपए की रिश्वत मांग रहे हैं। रिश्वत मांगने की रिकॉर्डिंग भी मयंक ने पुलिस को उपलब्ध कराई है।
क्या है पूरा मामला
लोकायुक्त पुलिस और मयंक ने मिलकर सीएमओ को रंगे हाथों पकड़ने की योजना बनाई और निर्धारित योजना के तहत शिवपुरी में रहने वाले सीएमओ मिश्रा को गुरूवार की सुबह मयंक ने फोन लगाकर पैसे देने की बात कही इस पर सीएमओ तैयार हो गए और शाम लगभग 6 बजे पैसे लेने के लिए शहर के टूरिस्ट विलेज होटल पहुंच गए। यहां पर मयंक ने सीएमओ मिश्रा को 1.17 लाख रुपए दिए लेकिन पहले से ही बैठी लोकायुक्त पुलिस ने तुरंत सीएमओ को उक्त रिश्वत के पैसों के साथ दबोच लिया। पुलिस के पकड़ते ही सीएमओ बोलने लगे कि मुझको तो फंसाया जा रहा है पुलिस ने जब सीएमओ के हाथ धुलाए तो पैसो से लगे पाउडर के फेर में सीएमओ के हाथ गुलाबी हो गए बाद में पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। कार्रवाई करने वाली टीम में निरीक्षक चौहान के अलावा निरीक्षक पीके चतुर्वेदी, आराधना डेविस सहित अन्य स्टॉफ शामिल था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online