जीवाजी विश्वविद्यालय के कर्मचारी परमानंद तिलवानी ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या की

ग्वालियर  समय 2.25 बजे थे कि एजी पुल के नीचे रेलवे लाईन की ओर देखने वालों वाहन चालकों की भीड़ लगी हुई यातायात पूरी तरह से जाम था इसलिये लोगों को निकलने में परेशानी हो रही थी। पूछा कि क्या हुआ है तो लोगों ने बताया कि नीचे कोई ट्रेन नीचे आ गया है। नीचे जाकर देखा तो पुलिस एक लाश को घेर हुए खड़ी थी तो मौके पर आरपीएफ के एसआई श्री वैद्य ने बताया कि यह शख्स दौड़कर ट्रेन के सामने आकर आत्महत्या कर ली है इसकी जेब से सुसाइड नोट मिला है।
क्या है पूरा मामला
जीवाजी विश्वविद्यालय में मृतक परमानंद तिलवानी लैब अटेडेंट के पद पर बॉटनी डिपार्टमेंट में पदस्थ था सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विश्वविद्यालय के शिक्षकों और कर्मचारियों से ब्याज पर लाखों रूपये कर्ज लिया थाए यह लोग पैसों के लिये लगातार दबाव बना रहे थे इसलिये इनके दबाव से बचने के लिये आत्महत्या कर ली ऐसा बताया जा रहा हैं। सुसाइड नोट में जिनसे परमानंद ने कर्ज लिया था उन सभी के नाम लिखे हुए हैं। जिनकों अपनी आत्महत्या के पीछे दोषी बताया हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online