कोलकाता के रेलवे स्टेशन पर इस्लामिक स्टेट के 4 संदिग्ध गिरफ्तार

कोलकाता. पश्चिम एसटीएफ ने कोलकाता के सियालदाह रेलवे स्टेशन से आईएसआईएस के 4 संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। इनमें से 3 बांग्लादेश के नागरिक है और जिस भारतीय को इस मामले में पकड़ा है वह इन तीनों को छिपाने का काम करता था। इन चारों संदिग्धों को उद्देश्य आतंकी संगठन आईएसआईएस के लिए भर्ती करना और पैसा इकट्ठा करना था। यह लोग आतंक के अपने एजेंडे को फैलाने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते थे। पुलिस को इनके पास से कई डिजीटल डॉक्यूमेंट्स मिले है जिसमें वीडियो और ऑडियो फाइलों के साथ जिहादी बुकलेट्स भी मिली है।
एसटीएफ ने 2 बांग्लादेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया
जानकारी के अनुसार उनके संगठन का मुख्य उद्देश्य भारत और बांग्लादेश में लोकतांत्रिक सरकार को उखाड़ और एक खिलाफत के तहत शरिया कानून स्थापित करना था। कोलकाता पुलिस द्वारा जारी बयान के अनुसार सोमवार (24 जनू) को एसटीएफ ने पुख्ता जानकारी के आधार पर एसटीएफ ने 2 बांग्लादेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया जो कि एनईओ-जेबीएम (जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश) इस्लामिक स्टेट के सदस्य हैं।
कई विवादित समाग्री मिली
यह गिरफ्तारी सियालदाह रेलवे स्टेशन की पार्किंग से हुई है। इनके पास से कई विवादित समाग्री मिली है। सियालदाह से गिरफ्तार किए गए संदिग्धों के नाम मोहम्मद जियाउर रहमान और ममनूर रशीद है। दोनों ही बांग्लादेश के रहने वाले हैं। इनसे हुई पूछताछ के आधार पर मंगलवार को एसटीएफ ने हावड़ा से 2 अन्य संदिग्धों को गिरफ्तार किया। इन संदिग्धों के नाम मोहम्मद शाहीन आलम और रूबिउल इस्लाम है। शाहीन आलम बांग्लादेश का नागरिक है जबकि रूबिउल इस्लाम पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले का रहने वाला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online