चुनाव आयोग से मार्गदर्शन के बाद ही टेण्डरों का भुगतान करें-कमलनाथ

भोपाल. विधानसभा चुनाव की मतगणना एक दिन बाद स्वीकृत हुए जल निगम के 1600 करोड़ रूपये के टेण्डरों पर सीएम कमलनाथ ने सवाल उठाये हैं, गुरूवार को जल निगम की बोर्ड मीटिंग में उन्होंने अधिकारियों से पूछा कि इन टेण्डरों में आचार संहिता का पेंच तो नहीं हैं। इस अधिकारियों ने उन्हें बताया कि ऐसी कोई बात नहीं है। फिर भी मुख्यमंत्री ने उनसे कहा कि इसे दिखवा लें। चुनाव आयोग से भी इस संबंध में मार्गदर्शन ले लें। सूत्रों के मुताबिक उन्होंने कहा है कि जब तक इस मामले में स्थिति स्पष्ट नहीं होती है तब तक इनका कोई भी भुगतान न किया जाये। सीएम कमलनाथ की अध्यरूक्षता में जल निगम की यह पहली मीटिंग थी। सीएम इसके पदेन चेयरमैन होते हैं। मप्र में सरकार बदलने के बाद कमलनाथ के हाथ में इसकी बागडोर आई है। बोर्ड की बैठक में टेण्डरों पर भी चर्चा हुई।
उन्होंने कहा कि इसके लिए ऐसी योजनाएं बनाएंए जिससे ग्रामीणों पर भार न पड़े। उन्होंने जल प्रदाय योजनाओं को पीपीपी मोड पर चलाने के लिए विभिन्न मॉडलों का अध्ययन करने के निर्देश दिए। जल निगम को मंदसौर, नीमच व छिंदवाड़ा जिले में नई परियोजना इकाई स्थापित करने की मंजूरी भी दी गई। बैठक में पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे, मुख्य सचिव एसआर मोहंती, जल संसाधन के एसीएस एम गोपाल रेड्डी, वित्त विभाग के एसीएस अनुराग जैन, पीएचई के पीएस संजय शुक्ला भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online