भोपाल में फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश

भोपाल. फर्जी कॉलसेंटर के माध्यम से अमेरिकियों से 70 करोड़ रुपए की ठगी के मामले का खुलासा हुआ है। पुलिस ने इस मामले में शुक्रवार को यहां इंद्रपुरी इलाके में छापा मारकर 6 लोगों को अरेस्ट किया है, एक अन्य आरोपी अहमदाबाद से अरेस्ट किया गया। यह लोग फर्जी कॉलसेंटर के माध्यम से अमेरिका में रहने वालों को लोन सेटलमेंट का झांसा देकर रकम ऐंठते थे। अब तक यह लोग 5 हजार अमेरिकियों को अपने जाल में फंसा चुके थे।
क्या है पूरा मामला
अहमदाबाद के एक कपड़ा कारोबारी का बेटा अभिषेक पाठक और भोपाल का रामपाल सिंह इस रैकेट के मास्टरमाइंड हैं। वे लगभग एक साल से फर्जी कॉलसेंटर चला रहे थे इन्होंने इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले कई छात्रों को अस्थाई नौकरी पर रखा था। अभिषेक 12वीं पास है। आरोपियों ने आधुनिक सॉफ्टवेयर प्लेटफॉर्म का उपयोग कर अमेरिका में रहने वालों के मोबाइल नंबर जुटाए।
ऐसे लेते थे लोगों को झांसे में
आरोपी सरकारी अधिकारी बनकर लोगों को कॉल करते थे। लोन सेटलमेंट के लिए वॉरंट और गिरफ्तारी का डर दिखाते थे। जो लोग झांसे में आ जाते उनसे अमेरिका में मौजूद उनका साथी माइकल डेनियल 2 से 3 हजार डॉलर या इतने ही मूल्य के बिटकॉइन ऐंठ लेता था।
12 लाख अमेरिकी थे ठगों के निशाने पर थे
अभिषेक ने पुलिस को बताया कि रामपाल के साथ वह अहमदाबाद के कॉलसेंटर में काम करता था। यहीं से उन्हें लोन लेने वाले 12 लाख अमेरिकियों का डेटा मिला। दोनों फर्राटेदार अमेरिकन इंग्लिश बोलते हैं। कॉल आने पर वह ही बात करते थे। बाकी लोग ईमेल पर फर्जी वॉरंट भेजकर दबाव बनाते थे। यह कॉलसेंटर प्रतिदिन 8 बजे से सुबह 5 बजे तक चलता था क्योंकि इस दौरान अमेरिका में दिन होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online