जीत के लिए प्रत्याशी अब तांत्रिक अनुष्ठान के भरोसे, नरेंद्र सिंह ने गोवर्धन में पूजा की

ग्वालियर. लोकसभा सीट पर जीत के लिए साम दाम दंड भेद अपनाने वाले प्रत्याशी अब तांत्रिक अनुष्ठान के भरोसे हैं। अगले 6 घंटे शेष हैं ऐसे में प्रत्याशी और उनके समर्थक कामाख्या से लेकर महाकाल मंदिर में भगवान को खुश करने में जुटे है। दोनों ही धड़ों के प्रत्याशी किस्मत चमकाने के लिए पूरा जोर लगा दे रहे है। लोकसभा चुनाव में मतदाताओं को अपना भगवान मानने वाले प्रत्याशी अब भगवान की शरण में पहुंचे है।
ग्वालियर के तारापीठ, दतिया के पीताम्बरा पीठ पर पूजा की
मतदान होने के बाद प्रत्याशी और उनके समर्थक जीत की मनोकामना के लिए देशभर के प्रसिद्ध मंदिरों की परिक्रमा करने में जुटे है खासतोर पर सबसे ज्यादा प्रत्याशियों की आस्था का केन्द्र आसाम में स्थित कामाख्या देवी का मंदिर है। देश में सर्वाधिक तांत्रिक अनुष्ठान यहीं कराए जाते हैं इसके बाद ग्वालियर के तारापीठ और दतिया के पीताम्बरा पीठ के साथ-साथ उज्जैन के महाकाल मंदिर में भी जीत के लिए पूजा-पाठ कराए जा रहे हैं ।
मुरैना सीट पर जबरदस्त टक्कर
मुरैना में भी इस बार कांटे की टक्कर है। विधानसभा चुनाव हार चुके रामनिवास रावत कांग्रेस से लोकसभा प्रत्याशी जबकि भाजपा से केंद्रीयमंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर भाजपा से प्रत्याशी है। इस सीट पर जबरदस्त टक्कर मानी जा रही है। कांग्रेस प्रत्याशी रामनिवास जहां कामाख्या में पूजा-पाठ करने चुनाव के तत्काल बाद पहुंच गए थे वहीं नरेंद्रसिंह तोमर ने गोवर्धन में विशेष पूजा की वहीं नरेंद्रसिंह के छोटे पुत्र प्रताप सिंह भी कामाख्या पूजा करने गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online