बड़ी चूक-ग्वालियर में चुनाव की काउंटिंग में पीठासीन अधिकारियों की बड़ी चूक

ग्वालियर. 23 मई को होने वाली लोकसभा चुनाव की काउंटिंग में पीठासीन अधिकारियों की चूक ने 6 वीवीपैट मशीनों की पर्ची काउंटिंग का लोड बढ़ा दिया है। हर विधानसभा से 5 वीवीपैट मशीनों की पर्चियां गिनी जाएंगी लेकिन 6 मशीनों में मॉक पोल के बाद क्लियर नहीं किया गया था इसलिए इनकी भी पर्ची का मिलान होगा। वहीं स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराग चौधरी ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन के अनुसार मतगणना पूरी पारदर्शिता के साथ होगी।
बोर्ड पर राउंडवार मतगणना दिखेगी
मतगणना स्थल पर सभी विधानसभा क्षेत्रों के मतगणना कक्षों सहित स्ट्रॉग रूम से लेकर उन गलियारों में भी सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे जहां से होकर ईवीएम गणना कक्ष तक पहुंचेंगी। हर राउंड की मतगणना के बाद एजेंटों को सर्टिफाइड गणना पत्रक दिया जाएगा और स्मार्ट सिटी के तहत लगे शहरभर के वीएमएस (वेरिएबल मैसेज साइनेज) बोर्ड पर राउंडवार मतगणना दिखेगी। बैठक में पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन और सभी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों के रिटर्निंग अधिकारी भी मौजूद थे।
सुबह 8 बजे से काउंटिंग, 14 टेबल लगेंगी
जिले में भी लोकसभा निर्वाचन में डाले गए मतों की गिनती 23 मई को को सुबह 8 बजे एमएलबी कॉलेज में शुरू होगी। मतगणना दिवस को स्ट्रॉग रूम प्रेक्षकगण और प्रत्याशियों व उनके अभिकर्ताओं की मौजूदगी में खोले जाएंगे। जिले के हर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में 14 टेबलों पर मतगणना होगी। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में 5 मतदान केन्द्र के वीवीपैट की पर्चियों की गिनती रेण्डम रूम से की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online