बेटे ने 84 वर्षीय पिता को घर से निकाला

ग्वालियर. मेरे बेटे ने मेरी संपत्ति को धोखे से दानपत्र के नाम पर हस्ताक्षर कर मुझे घर से बाहर कर दिया जब मुझे इस बात का पता चला मैंने अपने बेटे से पूछा उसने मुझे से बाहर निकाल दिया। जनवरी 2019 में मेरी पत्नी का देहांत हो गया था। मैं अपने मकान में मेरी पत्नी छोटी बेटी शुभ्रा, नातिनी शौर्या और बेटे साथ रहता था मेरे बेटे ने मेरी बेटी और नातिनी को मारपीट कर के घर से बाहर निकाल दिया। यह व्यथा 84 वर्षीय पीके जैन ने पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन को सुनाई और मुझे मेरा घर दिलावाया जाये यह बात सुनन के बाद एसपी ने उन्हें झांसी रोड थाने भेज दिया।
क्या है पूरा मामला
मैं 84 वर्षीय पीके जैन निवासी एम-127 माधवनगर रहता हूं जिससे मैंने अपने खून पसीने की कमाई से बनवाया था जिसमें मैं अपने परिवार में पत्नी, छोटी बेटी शुभ्रा, नातिनी शौर्या और मैं अपने बेटे शलभ जैन के साथ निवास करता था इसी वर्ष 2019 मेरी पत्नी का देहांत हो गया इसके बाद मेरी बेटी और नातिन को मारपीट कर घर से निकाल दिया और पूरे मकान पर कब्जा कर लिया। मैं चाहता हूं कि उचित कार्यवाही कर मेरा गकान मुझे वापिस दिलाया जाये। पुलिस ने इस संबंध में आगे की कार्यवाही जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online