आरएस जुलानिया और ईएनसी राजीवकुमार सुकलीकर के खिलाफ वारंट जारी

जबलपुर. मप्र हाईकोर्ट के पूर्व के आदेश का पालन नहीं करने पर जल संसाधन विभाग के तत्कालीन प्रमुख सचिव आरएस जुलानिया और इंजीनियर एन चीफ (ईएनसी) राजीव कुमार सुकलीकर के खिलाफ जमानती वारंट जारी किया गया है। न्यायमूर्ति बीके श्रीवासतव की एकलपीठ ने तत्कालीन प्रमुख सचिव और ईएनसी को 28 जून को हाईकोर्ट में हाजिर होकर जवाब देने के लिये निर्देशित किया गया है।
क्या है पूरा मामला
कमला नेहरू निवासी एसपी चक्रवर्ती की ओर से दायर याचिका में कहा गया है िकवह जल संसाधन विभाग सिवनी में सब इंजीनियर पद पर तैनात थे वर्ष 2013 में विभागीय जांच के बाद उन्हें सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। बर्खास्तगी के खिलाफ उन्होंने हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। हाईकोर्ट की एकलपीठ ने 21 जून 2018 को बर्खास्तगी को निरस्त करते हुए उन्हें सेवा में बहाल करने का आदेश दिया था लेकिन एकलपीठ के आदेश के बाद भी उन्हें सेवा में बहाल नहीं किया गया। इसके खिलाफ उन्होंने अवमानना याचिका दायर की है। अवमानना याचिका पर कई बार अवसर दिये जाने केबाद भी जबाव पेश नहीं किया गया। याचिकाकर्त्ता की तरफ से अविक्ता केसी घिल्डियाल, मनोज रजक, एचसी सिंह और श्रीकांत मिश्रा ने दलील दी कि पर्याप्त अवसर दिये जाने के बाद भी अनावेदकों की तरफ से जवाब पेश नहीं किया जा रहा है। एकलपीठ ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्कालीन प्रमुख सचिव आरएस जुलानिया व ईएनसी राजीव कुमार सुकलीकर के खिलाफ जमानती वारंट जारी कर 28 जून को उन्हें कोर्ट में हाजिर होने का आदेश दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online