दिल्ली में लाखों किसान मजदूर निकाल रहे रैली के दौरान लगाया जबरदस्त जाम

नई दिल्ली. वामदलों के समर्थन वाले किसान व मजदूर संगठनों की ओर से दिल्ली में एक बड़ी रैली निकाली जा रही है मजदूर किसान संघर्ष रैली सुबह लगभग 10 बजे रामलीला मैदान से शुरू हुई जिसमें शामिल लाखों किसान मजदूर संसद भवन की ओर कूच कर रहे हैं इस रैली के कारण से दिल्ली गेट से एलएनजेपी रोड तक लम्बा जाम लग गया यहां लगभग एक घंटे तक यातायात रोके रखा गया उधर, लक्ष्मीनगर से आईटीआई तक के मार्ग पर भी भारी जाम लग गया । किसान मजदूरों के मार्च के वजह से नई दिल्ली और मध्य दिल्ली के सभी प्रमुख मार्गो पर भारी यातायात जाम के हालात हैं। जिससे लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
इस रैली को मजदूर किसान संघर्ष रैली का नाम दिया गया है । इस रैली में देशभर से 4 लाख से ज्यादा किसान.मजदूरों के दिल्ली में जुटने का दावा किया गया है। यह रैली रामलीला मैदान से शुरू होकर संसद भवन तक मार्च करेगी, वाद दलों का कहना है कि रामलीला मैदान में आयोजित किसान रैली की तर्ज पर आने वाले दिनों में और भी ऐसी ही रैलियां होंगी। रैली के आयोजकों ने बताया कि माकपा के बैनर तले आयोजित किसान.मजदूर रैलियों के माध्यम से देश में किसान और मजदूरों की बदहाली के मुद्दे लगातार उठाये जाते रहेंगे और इसकी शुरुआत बुधवार को रामलीला मैदान की रैली से की जा रही है।
वाम समर्थित मजदूर संगठन ‘‘सीटू’’ के महासचिव तपन सेन ने बताया कि वामदलों और तमाम किसान संगठनों के साझा मंच के रूप में गठित मजदूर किसान संघर्ष मोर्चा रामलीला मैदान से भविष्य के आन्दोलनों की रूपरेखा घोषित करेगा। सेन ने बताया कि आजाद भारत में पहली बार सरकार के खिलाफ आयोजित रैली में किसान और मजदूर एकजुट होकर भाग लेंगे।
उन्होंने कहा कि यह अंतिम नहीं बल्कि पहली रैली होगी, इसमें केन्द्र सरकार की किसान मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ आन्दोलन के दूसरे चरण की कार्ययोजना से अवगत कराया जायेगा। सेन ने बताया कि वर्तमान केन्द्र सरकार सिर्फ धरी और कार्पोरेट घरानों के हितों को साधने वाली नीतियां बना रही है। इसका सीधा प्रभाव गरीब मजदूरों और किसानों पर हो रहा है। सेन ने कहा है कि रैली में भाग लेने के लिये देशभर से किसान औरे कामगारों के दिल्ली पहुंचने का सिलसिला पिछले कुछ दिनों से जारी है। इसमें वामदलों और किसान मजदूर संगठनों के नेता भी भाग लेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online