रक्षासूत्र कार्यक्रम-40 हजार बहनों ने डॉ. सतीश सिकरवार को बॉधी राखी

ग्वालियर. शहर की सबसे अग्रणी सामाजिक संस्था जन उत्थान न्यास के तत्वाधान में महिला सशक्तिकरण एवं रक्षाबंधन कार्यक्रम में महिलाओं का आज सम्मान ग्वालियर व्यापार मेला मैदान पर किया गया। कार्यक्रम में 40 हजार बहनों ने भाजपा नेता एवं जन उत्थान न्यास के अध्यक्ष डॉ. सतीशसिंह सिकरवार को राखी बॉधकर आर्शीवाद दिया। इस मौके पर डॉ. सिकरवार के जन्मदिन को भी बहनों ने मनाया और केक काटा, हजारों की संख्या में पहुॅची महिलाओं ने डॉ. सिकरवार का तिलक लगाकर एवं माला पहनाकर स्वागत किया। डॉ. सिकरवार ने बहनों के चरण स्पर्श कर आर्शीवाद लिया। पडांल में कार्यक्रम के दौरान बहनों पर पुष्पवर्षा होती रही, डॉ. सिकरवार ने बहनों को उपहार में एक-एक साड़ी, मिठाई का डिब्बा और 51 रूपये भेंट किये।
बहनों ने केक काटकर सतीश के साथ मनाया जन्मदिन
ग्वालियर व्यापार मेला में आयोजित बहनों के रक्षासूत्र का कार्यक्रम में बहनों के उमडे़ जन सैलाब को संबोधित करते हुये भाजपा नेता एवं जन उत्थान न्यास के अध्यक्ष डॉ. सतीशसिंह सिकरवार ने अपने उद्बोधन में कहा कि मैदान पर मौजूद 40 हजार हमारी बहनें ही हमारी मुख्य अतिथि हैं। उन्होने कहा कि आज बहनों के आर्शीवाद की वजह से इन्द्र भगवान ने भी कृपा की और पिछले कई दिनों से हो रही वर्षा से सभी चिंतित थे मगर आज वर्षा नही हुई, इस वजह से यह शानदार कार्यक्रम आप सब के आर्शीवाद से हो पा रहा है। उन्होने कहा कि मेरी बहनें मुझे आधी रात को भी याद करेगीं मैं उनके साथ खड़ा नजर आऊगॉ जहॉ मेरी बहनों का पसीना गिरेगा, वहां मैं अपना खून बहाऊंगा और एक भी बहन को परेशान नहीं होने दूगॉ। आप सभी बहनें इतनी बड़ी संख्या में यहां पहुंची हैं जो इस बात का प्रतीक है कि आप मुझे आर्शीवाद देने ही आई हैं। उन्होने कहा कि हर वर्ष फुलैरा दौज पर कन्याओं का निःशुल्क विवाह समारोह आयोजित करते हैं, अगले वर्ष हम 501 कन्याओं का विवाह समारोह आयोजित करेंगे। किसी भी गरीब परिवार में कन्या के विवाह में परिवार को कोई परेशानी नहीं आने दी जायेगी। उन्होने कहा कि हम कन्याओं के विवाह समारोह में उपहार में लगभग काफी सामान देते है, लेकिन अगले वर्ष से हम वाशिंग मशीन और फ्रिज भी देगें। हम वर्ष भर कोई न कोई कार्यक्रम करते रहते हैं, जिसमें मेधावी छात्र-छात्राओं का सम्मान, छात्र-छात्राओं को पाठ्य सामग्री का वितरण, युवाओं के लिए क्रिकेट टूर्नामेन्ट सहित कई खेलों का आयोजन, शिक्षक-शिक्षिकाओं का सम्मान, दीपावली पर बच्चों को आतिशबाजी वितरण, महिला सशक्तिकरण दिवस पर महिलाओं का सम्मान, सरस्वती पुत्रों का सम्मान, बुर्जुगों का सम्मान, गरीबों को आर्थिक मदद, निःशुल्क नेत्र शिविर, गरीब मरीजों का निःशुल्क ईलाज कराना एवं निःशुल्क दवाएं वितरण करने सहित कई कार्यक्रम किये जाते हैं। डॉ. सिकरवार ने कहा कि आपका आर्शीवाद इसी तरह मिलता रहा तो आपका भाई और बडे और अच्छे कार्यक्रम आगे भी करता रहेगा। आपके रक्षासूत्र का मैं दिल से सम्मान करता हूॅ और आश्वस्त करता हॅू कि आपकी रक्षा के लिए हमेशा संक्लपबद्ध रहूॅगा। उन्होने कहा कि मैं इस दुनिया का सबसे खुशनसीब भाई हूॅ कि किसी के पास तो एक या दो बहनें होती हैं, लेकिन मेरी बहनों की तो संख्या हजारों में है। इससे पहले सुमावली विधायक सत्यपाल सिंह सिकरवार ने अपने उद्बोधन में कहा कि बहनों के इस कार्यक्रम को गरिमामई बनाने के लिए हर संभव प्रयास किये गये और मैं अपनी बहनों की चरणवंदना करते हुये उस बात के लिए मॉफी चाहूॅगा कि अगर कोई गलती हो गई हो। उन्होंने कहा कि आप सब का आर्शीवाद ही हमारी पॅूजी है और हम आपको भरोसा दिलाते है कि भविश्य में इससे भी बेहतर कार्यक्रम आयोजित करंेगे, भाजपा नेता राजेश्वर राव ने अपने उद्बोधन में कहा कि जन प्रतिनिधि तो बहुत होते हैं, लेकिन मैं सतीश सिकरवार को देवदूत मानता हूॅ क्योंकि वे क्षेत्र के विकास के साथ-साथ सामाजिक कार्याे को ऐसे करते जैसे वह परिवार का आयोजन हो, इस कार्यक्रम में सास, ननद और बहु साथ-साथ आई हैं। इससे बड़ा खुशी का अवसर और काई नहीं हो सकता है। कार्यक्रम में अपने विचार रखते हुये वरिष्ठ एडवोकेट शुसेन्द्र सिंह परिहार ने कहा कि सर्वहारा वर्ग की चिंता करने वाले डॉ. सतीश सिकरवार ऐसे जनप्रिय नेता है कि जो भी कार्य हाथ में लेते है उसे सफलता पूर्वक अंजाम देते है। प्रताप सेना प्रमुख भूपेन्द्र चौहान ने कहा कि डॉ. सिकरवार राजनेता नहीं बल्कि एक ऐसे जनसेवक हैं, जो हर वर्ग के दुख-सुख में साथ रहते हैं। उन्होनें बहनों का आव्हान किया कि आप डॉ. सिकरवार को आर्शीवाद दें, ताकि वे आपकी सेवा और बढ-चढकर कर सकें। कार्यक्रम में जिला पंचायत उपाध्यक्ष मानवेन्द्र सिंह सिकरवार (गॉधी), सचिव चन्द्रप्रकाश गुप्ता, कोषाध्यक्ष अवध सिंह धाकरे, श्रीमती विद्यादेवी कौरव, छाऊलाल साहू, श्रीमती रश्मि पुरोहित, श्रीमती आशा सिंह, न्यासी आदित्य सिंह सिकरवार आदि मंचासीन रहे। कार्यक्रम में बहनों का आभार संयुक्त सचिव अवधेश कौरव एवं कार्यक्रम का संचालन महेन्द्र शुक्ला ने किया।
कार्यक्रम स्थल पर 50 पेयजल स्टॉल की व्यवस्था की गई थी। इसमें 30 स्टॉल पांडाल के बाहर एवं 20 स्टॉल पांडाल के अंदर लगाए गये थे। मेला परिसर में ही वाहनों की पार्किंग रखी गई। 120 बसों से बहनों को कार्यक्रम स्थल पर लाया गया और उन्हे वापस घर भेजा गया।
कार्यक्रम स्थल पर 32 गेट बनाए गये थे, जहां से बहनों का आना-जाना रहा। कार्यक्रम को भव्यता प्रदान करने के लिए आकर्शक सजावट की गई थी। डॉ. सिकरवार ने बहनों के सम्मान कार्यक्रम में बैठने के लिए कुर्सियों की व्यवस्था की गई थी। स्काउट गाईड के कार्यकर्ताओं ने भी व्यवस्थाओं में सहयोग किया।
120 बसें

बहनों को कार्यक्रम मे लाने ले जाने के लिए 120 बसों की जगह-जगह व्यवस्था की गई थी। इस कार्य में 120 कार्यकर्ता लगाये गये थे।
शिक्षक-शिक्षिकाओं का सम्मान 5 सितम्बर को
5 सितम्बर को मेला परिसर मे शाम 4 बजे से 31 सौ शिक्षक-शिक्षिकाओं का सम्मान किया जाएगा। जनउत्थान न्यास के अध्यक्ष भाजपा नेता, पार्षद डॉ. सतीश सिंह सिकरवार ने शिक्षक सम्मान समारोह की जानकारी देते हुए बताया कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी न्यास ने बड़े स्तर पर शिक्षकों का सम्मान करने का निर्णय लिया गया है जिसमंे 31 सौ शिक्षकांे का सम्मान शॉल, श्रीफल, प्रशस्ति पत्र भेंट कर किया जाएगा। शिक्षक दिवस पर आयोजन के लिए विभिन्न समितियों का गठन किया गया है। आयोजन के पश्चात् शिक्षकों के सम्मान समारोह में भोज दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

users online