ज्वेलरी की शॉप पर काम करने वाले झांसी के सोना सप्लायर लूटने के लिये बनाई गैंग, 7अरेस्ट, 2 फरार

दतिया. सेंवढ़ा रोड से कार सवार 7 बदमाशों को पुलिस ने अरेस्ट किया है यह बदमाश झांसी ने आने वाले सोना सप्लायर को लूटने की फिराक में थे। आरोपियों के पास से एक 9एमएम पिस्टल, 2 मैग्जीन, 6 राउण्ड, 2 सरिया, 2 पुलिस की बर्दी, 2 मोटरसाईकिल और एक कार जब्त की है। पुलिस लिखे स्टीकर और बिकाऊ वाहनों के नम्बर भी पास रखे थे।
आरोपी हथियार हाथ में लेकर थे तैयार
एसपी मयंक अवस्थी के अनुसार मुखबिर से मिली सूचना पर डीपार थाना प्रभारी यतेन्द्र सिंह और इन्दरगढ टीआई शिवसिंह यादव दोनों को होने वाली वारदातों को रोकने के लिये आरोपियों को पकड़ने के निर्देश दिये थे, शनिवार की देर रात सेंवढ़ा रोड पर स्थित स्वामी फिलिंग सेंटर के पास एक सफेद रंग की शिफ्ट डिजायर गाड़ी पार्क पायी गयी। पुलिस को कार पर लिखे नम्बर पर शक हुआ तो कार को चेक किया गया। अन्दर देखा तो पाया कि आरोपी में हथियारों को हाथ में लिये हुए थे। पुलिस ने तत्काल कार मं सवार बदमाशों को अपने कब्जे में ले लिया और झांडि़यों के पास खड़े मोटरसाईकिल सवार दो बदमाश भाग खड़े हुए । पुलिस ने कार में बैठे रोहित निवासी भिण्ड, रमेश सोनी निवासी कटरा मोहल्ला भिण्ड, विजय उर्फ कल्लन सोनी इंदरगढ, अमन भदौरिया भिण्ड रामेश्वर बघेल इंदरगढ, श्यामकुमार राय निवासी मुम्बई और सूरज भदौरिया भिण्ड को अरेस्ट किया है। वहीं मोटरसाईकिल सवार आरोपी शत्रुघनसिंह परमार भिण्ड और बृजेश यादव निवासी भिण्ड मौके से फरार हो गये है।
एक माह पूर्व लूट के योजना फेल हो गयी थी
प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि इंदरगढ़ निवासी विजय उर्फ कल्लन सोनी सालों से इंदरगढ़ में गुलाबचंद्र, महेशचंद्र सहित तमाम दुकानों पर काम करता था। उसे यह जानकारी हो गई कि झांसी से सोहन कुशवाहा नाम का व्यापारी इंदरगढ़ में सोना बेचने के लिए आता है। इस व्यापारी को लूटने के लिए विजय ने मुखबिरी की और भिंड निवासी अपने फुफेरे भाई रमेश सोनी को गैंग बनाने के लिए कहा। रमेश ने भिंड में रहने वाले रोहित तोमर से संपर्क किया। रोहित ने शत्रुघन सिंह को लूट और डकैती के लिए तैयार किया। शत्रुघन ने 2 वायरलैस सेट खरीदे। मिलट्री ड्रेस जैसी 2 नई पुलिस की बर्दी खरीदी। 9 लोगों की गैंग एक साथ सोना व्यापारी सोहन कुशवाहा को लूटने के लिए तैयार हो गई। एक महीने पहले ही लूट की घटना करने की फिराक में थे लेकिन उस दिन व्यापारी निजी वाहन की बजाए यात्री बस में बैठकर आया। इसलिए लूट नहीं कर सके। शनिवार को पुनरू इंदरगढ़ में लूट के साथ कुछ चिन्हित मकानों में डकैती डालने की भी तैयारी में सभी बदमाश आए थे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*