महाराष्ट्र में मराठाओं का जेल भरों आंदोलन, अब तक 6 ने किया सुसाइड़

मुंबई. मराठा आरक्षण आंदोलन के तहत पुणे में रविवार को हुई हिंसा के बाद आरक्षण की मांग कर लोग जेल भरों आंदोलन करेंगे। जानकारी के अनुसार आंदोलनकारी आज दोपहर में जेल भरने के लिए सामूहिक गिरफ्तारियां देंगे। हालांकि संगठन अपने आंदोलन को शांतिपूर्ण तरीके से चलाने के दावे कर रहा है लेकिन वास्तव में महाराष्ट्र में हिंसा लगातार जारी है। प्रदर्शन को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।
वहीं इससे पहले मंगलवार को 2 और लोगों ने आत्महत्या कर ली। औरंगाबाद जिले के फुलंब्री तहसील में 17 वर्षीय प्रदीप हरि म्हस्के ने कुएं में कूद कर जान दे दी, जबकि बीड़ जिले के 35 वर्षीय अभिजीत देशमुख ने घर के पास पेड़ से फांसी लगाकर आत्महत्या की। अब तक आरक्षण आंदोलन में 6 लोगों की मौत हो चुकी है। इनके अलावा मराठवाड़ा संभाग के लातूर जिले में 8 प्रदर्शनकारियों ने केरोसीन डालकर आत्मदाह की कोशिश की।
मराठाओं का जेल भरो आंदोलन, 6 लोगों ने किया सुसाइड
भाजपा ने चुनाव से पहले धनगरों को भरी आरक्षण देने का वादा किया था। इसके मुताबिक यदि ये समुदाय आरक्षण के लिए एक एक करके सड़कों पर उतरने लगे तो महाराष्ट्र को बनना रिपब्लिक (अराजक राज्य) बनते देर नहीं लगेगी।
शिवसेना ने कहा है मराठा आरक्षण नियम कानून का नहीं है बल्कि समुदाय के अस्तित्व का मसला है। पीएम नरेंद्र मोदी पर परोक्ष निशाना साधने हुए पार्टी ने कहा है कि इसका फैसला कोर्ट नहीं कर सकता है। इसके लिए एक 56 इंच सरकार की जरूरत है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*