अलवर लिंचिंग-पीएम रिपोर्ट में हुआ खुलासा, सदमें से हुई थी अकबर की मौत

जयपुर. अलवर के रामगढ़ में गौ तस्करी के शक में 2े दिन पहले कथित मॉब लिंचिंग के शिकार हुए अकबर उर्फ रकबर की मौत सदमे से हुई थी। यह खुलासा उसकी पीएम रिपोर्ट में हुआ है। पीएमआर में दी गई जानकारी के अनुसार रकबर की मौत पिटाई से आई चोटों के कारण हुए सदमें से हुई थी। इसमें यह भी कहा गया है कि रकबर के हाथ और पैर की हड्डी टूटी हुई थी वहीं उसके शरीर पर 12 जगह चोट के निशान थे।
वहीं रकबर की मौत के मामले में पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठे सवालों को देखते हुए गठित की गई उच्चस्तरीय जांच समिति ने माना है कि अकबर को पहले अस्पताल ले जाने के मामले में पुलिस से निर्णय लेने में गलती हुई। इस मामले में एक एएसआई मोहन सिंह को निलंबित किया गया है और 3 कांस्टेबल को लाइन अटैच किया गया है। मामले की जांच अभी जारी रहेगी।
अलवर मॉब लिंचिंग मामले में पुलिस की भूमिका पर स्थानीय विधायक ज्ञानदेव आहूजा, चश्मदीद गवाह नवल किशोर और मेव समुदाय ने सवाल खडे किए थे और आरोप लगाया था कि पुलिस ने 3 घंटे तक अकबर को थाने में रखा जबकि उसे तुरंत अस्पताल ले जाना चाहिए था।
इस मामले में पुलिस ने पहले जयपुर रेंज कार्यालय के एएसपी क्राइम एंड विजिलेंस को सौंपी गई थी लेकिन गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने इसे अधिक गम्भीर मामला मानते हुए पुलिस के 3 वरिष्ठ अधिकारियों की टीम गठित करने के निर्देश दिए।
मामले की जांच के लिए सोमवार को ही अलवर पहुंची टीम ने प्राथमिक जांच की और इसके बाद एडीजी कानून व्यवस्था एनआरके रेड्डी ने मीडिया से बातचीत में इस बात को स्वीकार किया कि अकबर को थाने के बजाए पहले अस्पताल ले जाया जाना चाहिए था। इस मामले में पुलिस से निर्णय लेने में गलती हुई है। उन्होंने पुलिस द्वारा मारपीट किए जाने के आरोप पर कहा कि अभी हमने सिर्फ प्राथमिक जांच की है। विस्तृत जांच अभी की जा रही है सभी पहलूओं पर जांच करेगी। लेकिन निर्णय लेने की गलती के मामले में इंचार्ज एएसआई मोहन सिंह को निलबित कर दिया गया है और 3 अन्य कांस्टेबल को लाइन हाजिर किया गया है।
डीजीपी को 3 अधिकारियों की एक उच्चस्तरीय समिति बनाने के निर्देश दिए हैं। यह कमेटी पता लगायेगी कि इसमें पुलिस की लापरवाही रही है या नही। कटारिया ने कहा कि यह पहलू अभी तक उनके सामने नहीं आया था लेकिन जब मीडिया से पता चला है तो इसकी भी जांच होनी चाहिए। यह कमेटी थाने पर जाकर जांच करेगी।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*