सराफा व्यापारी की राजकोट में पत्नी सहित 9 लोगों की मौत

ग्वालियर. सराफा कारोबारी और उनकी पत्नी की राजकोट (गुजरात) में मंगलवार रात हुए सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। दोनो अपने रिश्तेदारो के साथ कच्छ के लाकडि़यां गांव स्थित कुलदेवी के दर्शन और सुरापुरा दादा महोत्सव में शामिल होने गए थे। लौटते वक्त राजकोट के भागोणे टंकरा से कागदड़ी के बीच इनकी कार सामने से आ रहे ट्रक से टकरा गई। हादसे में कार में सवार 9 लोगों की मौत हुई इसमें ग्वालियर के सराफा करोबारी और उनकी पत्नी भी शामिल हैं। हादसे के बाद रात में राजकोट पुलिस ने ग्वालियर पुलिस से संपर्क कर सराफा कारोबारी के घर सूचना पहुंचाई। राजकोट में शवों को पोस्टमार्टम बुधवार को हुआ। देरा रात तक शव ग्वालियर आने की संभावना है।
क्या है पूरा मामला
मोर बाजार में ज्वेलरी शॉप चलाने वाले राजेश भाई कलाडिया पुत्र रसिक भाई कलाडिया पत्नी भावना बेन कलाडिया के साथ रविवार को ग्वालियर से गुजरात गए थे। राजकोट के लक्ष्मीवाडी में रहने वाले अपने साले महेश भाई कलाडिया के यहां पहुंचे। गुप्त नवरात्र में कच्छ के सामाटवियाणी के पास स्थित लाकडिया गांव में माता मंदिर पर मेला लगता है और पास में ही सुरापुरा दादा महोत्सव का आयोजन होता है। मंगलवार सुबह दर्शन और महोत्सव में शामिल होने के लिए यह लोग राजकोट ने निकले। राजेश भाई, भावना बेन के साथ महेश भाई, मीना बेन, बलदेव भाई कलाडिया निवासी वाणियावाडी, रमेश भाई निवासी देवपारा उनकी पत्नी ममता, बेटा सागर और मुकेश भाई भी दर्शन के लिए गए थे। उन्होंने राजकोट से इको कार किराए पर ली थी। रात को यह लोग दर्शन कर लक्ष्मीवाडी लौट रहे थे। तेज रफ्तार कार रात लगभग 9 बजे जैसे ही भगोणे टंकरा से कागदडी के बीच पहुंची तो अचानक बेकाबू हो गई और टकराते ही कार में आग लग गई। कार में मोरबी के पास सीएनजी गैस भरवाई थी। घटनास्थल पर ही 5 लोगों की मौत हो गई।
जेब से मिले आधार कार्ड से हुई पहचान
हादसे के बाद राजकोट पुलिस घटनास्थल पर पहुंची थी। किसी के बारे में कुछ भी नहीं पता था क्योंकि जो लोग घायल थे वे भी कुछ बताने की स्थिति में नहीं थे। इधर ग्वालियर से राजेश की मां और बेटियां लगातार कॉल कर रही थीं लेकिन कॉल नहीं लग रहा था। राजेश की जेब से आधार कार्ड मिला। उनकी पहचान सबसे पहले हुई। इसके बाद राजकोट पुलिस ने ग्वालियर पुलिस से संपर्क किया। रात को जब एसपी नवनीत भसीन को यह जानकारी मिली तो उन्होंने तुरन्त कारोबारी के घर पुलिस पहुंचाई। पुलिस के पहुंचने पर हादसे का पता लगा तो घर में चीख पुकार मच गई। परिजन पुलिस से बार बार खबर की सच्चाई को लेकर पूछताछ कर रहे थे। उन्हें विश्वास ही नहीं हो रहा था कि कोई अनहोनी हो गई है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*