पानी के लिए पूर्व विधायक प्रद्युम्न ने रोकी छोटी रेल

ग्वालियर. गर्मी के मौसम में तिघरा जलाशय सूखता जा रहा है और पानी की कमी को देखते हुए नगर निगम एक दिन छोड़कर पानी सप्लाई कर रही है लेकिन इसके बाद भी पानी की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। पानी की कमी से जूझ रहे लोग धरना प्रदर्शन करते हुए आंदोलन कर रहे है। पानी की कमी से जूझ रहे लोगों का दर्द समझते हुए गुरूवार की सुबह पूर्व विधायक प्रद्युम्न सिंह तोमर ने मोतीझील हाइवे पर चक्काजाम कर नैरोगेज की और पटरियों पर बैठ गए। जैसे ही श्योपुर जाने वाली छोटी ट्रेन आई तो इसे भी रोक लिया। छोटी रेल के रूकने की खबर मिलते ही जीआरपी पुलिस भी चक्काजाम स्थल पर पहुंच गई।

एसी कार्यालय से बाहर निकलकर जनता का दर्द

कांग्रेस के पूर्व विधायक प्रद्युम्न सिंह तोमर का कहना है कि लोग पानी के लिए परेशान है सड़कों की हालत खस्ता है लेकिन निगम अधिकारी एसी कार और एसी कार्यालय से बाहर निकलकर जनता का दर्द नहीं जान रहे है जिसके चलते उन्हें मजबूरी में यह कदम उठाना पड़ रहा है।

भारी संख्या में पुलिस बल मौके पहुंच गया
आज गुरूवार की सुबह बहोड़ापुर, लक्ष्मीपुरम, गुरूनानक नगर, मस्तान बाबा की दरगाह सहित आसपास रहने वाले लोग पानी नहीं आने से परेशान है तो सड़कों की हालत भी खस्ता है। स्थानीय लोगों ने नाराजगी जताते हुए अधिकारियों के खिलाफ आवाज बुलंद करते हुए चक्काजाम कर दिया। मोतीझील तिराहे पर चक्काजाम होते ही भारी संख्या में पुलिस बल मौके पहुंच गया और पूर्व विधायक प्रद्युम्न सिंह तोमर को चक्काजाम खुलवाने के लिए मना रहे हैं। तोमर का कहना है कि लोग पानी की समस्या से जूझ रहे है। निगम एक दिन छोड़कर पानी दे रही है लेकिन इसके बाद भी पूर्ति नहीं कर पा रही है। सड़कों के नाम पर सिर्फ गड्ढे ही गड्ढे है तो वहीं स्ट्रीट लाइटें बंद पड़ी है इसकी शिकायत कई बार निगम अधिकारियों से की गई है और जनसुवाई में भी निवेदन किया गया है लेकिन आज तक निगम के जिम्मेदार अधिकारियों ने कोई सुध नहीं ली है जिससे परेशान होकर यह कदम उठाना पड़ा है। छोटी रेल के रूकते ही ट्रेन में सवार यात्रियों को परेशान होना पड़ रहा है। आरपीएफ, जीआरपी भी चक्काजाम स्थल पर
रेल रूकने की खबर मिलते ही पुलिस के साथ साथ रेलवे का जीआरपी और आरपीएफ का बल भी घटनास्थल पर पहुंचकर रेल को आगे निकालने की कोशिश कर रहा है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*