अर्न्तराज्यीय बैठक -वॉट्स एप्प से जानकारी का आदान प्रदान करें-अंशुमन सिंह

ग्वालियर. वारदातों को अंजाम दे रहे बदमाश आपसी सामजस्य की कमी होने के चलते यहां पर वारदात करने के बाद दूसरे राज्यों में छिप जाते है। जिससे हमें ही नहीं सभी को परेशानी का सामना करना पड़ता है। इन पर अकुंश लगाने के लिए अब हम मिल कर इनके खिलाफ कार्यवाही करेंगे। यह बात बुधवार को आईपीएस अधिकारियों की बैठक में आईजी अंशुमान सिंह ने कही। बैठक में यूपी, राजस्थान और एमपी के बार्डर वाले आईपीएस मौजूद थे। आईजी अंशुमान सिंह ने बताया कि इंटरस्टेट बदमाश वारदात को अंजाम देने के बाद स्टेट और जिला बदल देते है। जिससे वारदात की पड़ताल में काफी परेशानी आती है और बदमाश हाथ नहीं आते है। इन पर अंकुश लगाने के लिए अब एमपी, राजस्थान और यूपी पुलिस के बीच सामजस्य बढ़ाने के लिए जानकारी का आदान प्रदान किया जाएगा। जिससे वारदात के बाद बदमाशों की पूरी जानकारी का आदान प्रदान किया जाएगा। जिससे इन्हें पकड़ा जा सके और इनके खिलाफ कार्यवाही की जा सके।
विधानसभा चुनाव के वक्त बाहरी बदमाशों पर कसेगे नकेल
चुनावों में बाहरी बदमाश प्रवेश नहीं करने पाए इसके लिए लॉकिंग सिस्टम तैयार किया जाएगा। इसके लिए एक अलग टीम भी तैयार की जाएगी। जो कि बार्डर इलाकों में तैनात रहेंगी। जिसमें आस पास के जिलों के जवान और अफसर शामिल होंगे।
बदमाशों की बनाएं कुंडली
बैठक में आईपीएस अफसरों ने बदमाशों की जानकारी का आदान प्रदान पर भी सहमति जताई। जिससे इन बदमाशों द्वारा घटित वारदातों की पूरी जानकारी दी जाएगी। जिससे वहां पर होने वाली वारदातों में इनकी भूमिका की जांच हो सके।
तस्करी रोकने अलग होगा स्क्वॉड
श्री सिंह ने बताया कि शराब तस्करी रोकने के लिए भी अलग स्क्वॉड तैयार किया जाएगा। जो कि शराब तस्करों के साथ ही नशे का कारोबार करने वालों पर लगाम लगाएगा। साथ ही इस स्क्वॉड की मदद से हथियारों की तस्करी पर भी रोक लगेंगी।
वाट्स एप्प से जानकारी साझा करेंगे अंर्तजिला
अलग अलग राज्यों की सीमा पर जुड़े जिलों की पुलिस वॉट्सएप् ग्रुप बनाकर क्राइम पर प्रभावी तरीके से काबू लाने की कार्यवाही की जायेगी। इससे आपस में अपर ाधों के साथ साथ वॉटेंड बदमाशों की जानकारी भी साझा करेगी। एसे में किसी भी वारदात में दूसरे राज्य की पुलिस की मदद की जरूरत हो तो तत्काल एक्शन भी संभव हो सकेगा।
विधानसभा चुनाव की भी तैयारी
मप्र में होन वाले विधानसभा चुनाव की तयारी को लकर भी बैठक में चर्चा की गयी है। इसमें तीनों राज्यों की पुलिस ने तय किया है कि मप्र में होने वाले चुनाव में अर्न्तराज्यीय बदमाश हस्तक्षेप न करें, यह भी सुनिश्चित किया जायेगा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*