भाजपा कार्यकर्त्ताओं और संगठन के बीच समन्वय रहें इसलिये वरिष्ठ नेताओं को उतारा मैदान में

????????????????????????????????????

ग्वालियर. सत्ता और संगठन में टकराव के हालातों से परेशान भाजपा इन दिनों समन्वय के गंभीर संकट से जूझ रही है। पार्टी का शीर्ष नेतृत्व भी इसे समझ रहा है और आने वाले विधानसभा चुनाव से पहले इन हालातों को दुरूस्त करने में भी जुट गया है। इसी सिलसिले में आज ग्वालियर जिले के तमाम नेताओं और संगठन पदाधिकारियों की नाराजगी दूर करने के लिए पूर्व केन्द्रीय मंत्री व बीजेपी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष विक्रम वर्मा और पूर्व केन्द्रीय मंत्री व सांसद प्रहलाद पटेल बैम्बू रेस्टॉरेंट पर चुनिंदा नेताओं की बैठकें ले रहे हैं।
क्या है पूरा मामला
बैठक के दौरान प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा जनप्रतिनिधियों और पार्टी नेताओं की अनसुनी एवं मनमानी किए जाने जैसे मुद्दों पर चर्चा के दौरान माहौल गरमायां गया। वहीं 7 माह से युवा मोर्चा की जिला इकाई घोषित नहीं होने को लेकर भी नेताओं ने नाराजगी की। इस बीच इन दोनों वरिष्ठ नेताओं ने मिशन 2018 के लिए जी जान से जुटने के एजेंडे पर फोकस रखते हुए अबकी बार 200 पार का लक्ष्य रखा।
दुष्प्रचार के जवाब में सरकार के काम गिनाओं
भाजपा के चुनिंदा और जिम्मेदार नेताओं को जनता के बीच मजबूती से जाने का मंत्र देते हुए वरिष्ठ नेताओं ने कहा कि विरोधियों के दुष्प्रचार का जवाब देने के लिए पूरे तथ्यों के साथ और मुद्दों पर होमवर्क करके मैदान में निकलें, साथ ही सरकार ने समाज के विभिन्न वर्ग के लोगों के लिए जितनी भी योजनाएं शुरू की हैं उनकी पूरी जानकारी रखें और लोगों को उनका लाभ भी दिलवााएं। उन्होंने बताया कि संगठन की दृष्टि से 56 जिलों में समन्वय के लिए 24 टोलियां मैदान में उतारी गई है। हर टोली में 2 वरिष्ठ नेताओं को शामिल किया गया है।
असंतोष, निष्क्रियता और खाली पद हमारे टारगेट- वर्मा
चुनाव से पहले पार्टी के भीतर किसी तरह का असंतोष, निष्क्रियता और संगठन में रिक्त पड़े हुए पद हमारा टारगेट हैं। यह कहना है पूर्व केन्द्रीय मंत्री व बीजेपी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष विक्रम वर्मा का। बीजेपी की जिला समन्वय बैठक लेने के लिए आए श्री वर्मा आज सुबह पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे। इस अवसर पर उनके साथ पूर्व केन्द्रीय मंत्री व सांसद प्रहलाद पटेल भी मौजूद रहे। प्रशासनिक अधिकारियों की मनमानी कार्यशैली के कारण ग्वालियर में बीजेपी के पदाधिकारियों और जनप्रतिनिधियों में आक्रोश के सवाल पर श्री वर्मा ने कहा कि इस असंतोष को दूर करना पार्टी की जिम्मेदारी है और हम लोगों को इसी काम पर लगाया गया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*