जेेएएच में नर्सेस 3 घंटे तक काम बन्द रखा, जेएएच अधीक्षक का कार्यालय घेरा

ग्वालियर. 7 माह पूर्व सरकार आश्वासन देकर नर्सेस एसोसिऐशन क आन्दोलन को शासन ने शांत कराया वह फिर से भड़क गया है। नर्सेस का आरोप है कि इन 7 माह तक सिर्फ उन्हें शांत रखने के अलावा उनकी मांगों का पूरा करने के लिये शासन ने कोई कवायद नहीं की है। लिहाजा 7वें वेतनमान समेत कई मांगों को लेकर नेर्सेस एसोसियेशन ने आज 3 घंटे से अधिक समय तक काम बन्द रखा। अपने तय कार्यक्रम केे अनुसार जयारोग्य अस्पताल की 450 नर्सेस और 150 पैरामेडीकल स्टाफ विभागों में मरीजों की देखभाल करने की जगह सड़कों पर आ गये। वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए इस आन्दोलन के लिये बनाये गये संयुक्त मोेर्चा कर्मचारी संगठन के बैनर तले सैकड़ों नर्सेस और पैरामेडीकल स्टाफ ने जेेएएच अधीक्षक डॉ. जेएस सिकरवार का कार्यालय घेरा । नर्सेस ने मांगें पूरी नहीं होने पर इसी वर्ष जनवरी माह की तरह बेमियादी हड़ताल पर चले जाने हिदायत दी है।
कल भी काम बन्द रहेगा और हड़ताल 23 से
संयुक्त मोर्चा स्वास्थ्य कर्मचारी संगठन ने स्पष्ट एलान कर दिया है कि वह 10 जुलाई को भी सुबह 8 से 11 बज तक काम बन्द रखेंगे। विरोध स्वरूप नर्सेस 3 घंटे तक वह जेएएच के किसी भी विभाग में नहीं जायेगी। बावजूद इसके अगर सरकार उनकी मांगों को पूरा नहीं करती है तो 23 जुलाई से बेेमियादी हड़ताल शुरू की जायेगी।
परेशान हैं मरीज
नर्सेस और मैरामडीकल स्टाफ द्वारा 3 घंटे तक काम नहीं करने की वजह से जेएएच के विभिन्न विभागों में भर्ती मरीज परेशानी से जूझते देखें गये हालांकि काम बन्द करने की सूचना पूर्व में ही जेएच प्रबंधन को दी गयी थी, लेकिन इससे निपटने के लिये अस्पताल प्रबंधन द्वारा काई वैकल्पिक इंतजाम नहीं किये गये। हालांकि जेएएच प्रबंधन के अनुसार हड़ताल से कोई फर्क नहीं पड़ा क्योंकि जूनियर डॉक्टरों ने ड्यूटी संभाल ली थी।
यह है संयुक्त मोर्चा
7वें वेतनमान की मांग के लिये बनाया गया संुयक्त मोर्चा संगठन बनाया गया है।
इसमें नर्सेस एसोसियेशन की प्रदेशाध्यक्ष रेखा परमार नर्सेस एसोसियेशन जिला अध्यक्ष देवेन्द्र सिंह त्यागी और पैरामेडीकल एसोसियेशन की कार्यकारी अध्यक्ष सुमन भिलवार को शामिल किया गया है।
संयुक्त मोर्चा की मांगें
स्वशासी में पदस्थ सभी कर्मचारियों को 7वां वेतनमान 1 जनवरी 2016 से दिया जाये।
स्वषासी में पदस्थ समस्त कर्मचारियों की समयमान वेतनमान और राष्ट्रीय पेंशन योजना का लाभ दिया जाये।
चिकित्सा शिक्षा विभाग में पदस्थ नर्सेस को भी 3 तथा 4 अग्रिम वेतनवृद्धि का लाभ दिया जाये।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*