सूख चुके नलकूप वाले क्षेत्रों के लिए करें वैकल्पिक व्यवस्था

ग्वालियर अल्पवर्षा के संकट के दृष्टिगत पानी की कमी को देखते हुए जिन वार्डों में पहले से चले आ रहे जो नलकूप सूख चुके हैं। उन क्षेत्रों में पानी की वैकल्पिक व्यवस्था तत्काल की जाए। जिससे संबंधित क्षेत्र के नागरिकों को पानी मिल सके। इसके साथ ही जो नए नलकूप हो रहे हैं उनमें मोटर डालकर 7 दिवस के अंदर प्रारंभ कराएं जाएं। साथ ही पानी की जो छोटी छोटी समस्याएं हैं उनका संबंधित इंजीनियर तत्काल निराकरण करें। निर्णय विधानसभावार पार्षदगणों के साथ निगम अधिकारियों की बैठक में लिए गए। बैठक में अपर आयुक्त आरके श्रीवास्तव, अधीक्षण यंत्री पीएचई आरएलएस मौर्य सहित सभी विधानसभा क्षेत्रों के सभी पार्षदगण सहित सभी वार्डों के सब इंजीनियर उपस्थित रहे।
पार्षदगणों और अधिकारियों के बीच वन टू वन चर्चा
विधानसभावार आयोजित बैठक में पार्षदगणों के साथ अधिकारियों द्वारा वन टू वन चर्चा की गई जिसमें संबंधित वार्डों के पार्षदों ने अपने अपने क्षेत्र में पानी के संकट एवं उनके निदान के लिए किए जाने वाले कार्यों के लिए अपने सुझाव दिए। जिसमें पार्षदगणों ने बताया कि उनके वार्ड में वर्तमान में कितने नलकूप हैं तथा कितने सूख गए हैं। इसके साथ ही किन किन क्षेत्रों में तिघरा का पानी मिल रहा है तथा किन क्षेत्रों में नलकूप से पानी मिल रहा है और उन क्षेत्रों के बारे में भी जानकारी दी जहां पानी परिवहन कर पंहुचाना पडता है।
सभी पार्षदगणों द्वारा अपने अपने क्षेत्र की पानी की समस्या के बारे में बताया जिसमें वार्ड 50 की पार्षद श्रीमती वंदना अरोरा ने पानी की लाइन के मिलान एवं चितेरा ओली में एक नलकूप कराने तथा राठौर पैलेस की ओर पाइप लाइन की मिलान कराने को लेकर जानकारी मांगी जिसको लेकर अधिकारियों द्वारा उक्त कार्य शीघ्र प्रारंभ कराने का आश्वासन दिया गया।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*