मुरैना में मध्यान्ह भोजन खाने के बाद 6 बच्चों की हुई तबियत खराब

मुरैना. नगर निगम क्षेत्र के पटेल का पुरा प्रायमरी स्कूल निबी में मध्यान्ह भोजन करने के बाद स्कूल के बच्चों की तबियत बिगड़ गई। बच्चें उल्टियां करते हुए अपने घर पहुंचे। कुछ बच्चे घर पहुंचकर बेहोश हो गए। जिन्हें उनके परिजन जिला अस्पताल लाए। अस्पताल में शाम तक 7 बच्चों को भर्ती किया गया है। डॉक्टरों ने अब बच्चों को खतरे से बाहर बताया है। इधर कलेक्टर भरत यादव ने मामले की गंभीरता को देखते हुए अधिकारियों की कमेटी बनाई है जो इस मामले की जांच कर रिपोर्ट सौंपेगी।
क्या है पूरा मामला
निबी में रहने वाले वीरेंद्र ने बताया कि दोपहर लगभग 1.30 बजे स्कूल में भोजन करने के बाद उनका 6 वर्ष का बेटा अमित और 8 वर्ष का बेटा आशीष उल्टियां करते हुए घर आए और घर आते ही बेहोश होकर गिर पड़े। इसी बीच गांव के दूसरे घरों से भी बच्चों के बीमार होने की खबरें आईं। सभी वह बच्चे थे जो मिड डे मील खाकर आए थे। बच्चों की तबियत खराब होती देख परिवार के लोग उन्हें जिला अस्पताल लाए। खाना खाकर बीमार हुए एक अन्य बच्चें संदीप पुत्र राजेश के चाचा दीपेंद्र ने बताया कि इस घटना के बाद सभी लोग सीधे स्कूल पहुंचे और वह भोजन देखा जो बच्चों को बांटा गया था। भोजन बासा था और उसमें से बदबू आ रही थी। इनके अलावा जो बच्चे अस्पताल लाए गए हैं उनमें सोनू पुत्री रामू कुशवाह, विकास पुत्र बंअी, रजनी पुत्री मुकेश, प्रतीक पुत्र राम अख्तियार शामिल हैं।
सीईओ ने नहीं दिया जबाव, कलेक्टर पहुंचे अस्पताल
सेंट्रल किचन की मॉनीटरिंग जिला पंचायत द्वारा की जाती है। ऐसे में जिला पंचायत सीईओ सोनिया मीणा से जिला पंचायत का पक्ष जान्ने के लिए उनके मोबाइल पर फोन किया गया और घटना के बारे में एसएमएस भी किया गया। लेकिन न तो उन्होंने कॉल रिसीव किया न हीं कोई उत्तर दिया। इसके विपरीत कलेक्टर भरत यादव व एसडीएम उमेश शुक्ला बच्चों का हाल जान्ने स्कूल पहुंचे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*