थाईलैण्ड- 16 वें दिन गुफा से 4 फुटबॉलर और बचाये गये, अभी तक 8 को बाहर निकाले, गुफा में शेष 5 सदस्य

बैंकॉक. थाईलैण्ड की थाम लुआंग गुफा में अपने कोच के साथ फंसी फुटबॉल टीम के 8वें बच्चे को सोमवार की देर शाम तक निकाल लिया गया है। शेष 5 सदस्यों को निकालने के लिये बचाव दल के कर्मचारी मंगलवार की सुबह अभियान शुरू करेंगे। इससे पूर्व रविवार की शाम तक गुफा से 4 बच्चों का निकाल लिया गया था। खिलाडि़यों के माता पिता ने कहा कि उनके बच्चे बहुत बहादुर हैंे वह जल्दी ही गुफा से बाहर आ जायेंगे।
बचाव में जुटे 90 गोताखोर
रविवार की लगभग 12 घंटे तक चले अभियान में 18 गोताखोरों ने 4 बच्चों को बाहर निकाल लिया था। थाईलैण्ड के अलावा अमेरिका, चीन, जापान, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के 90 गोताखोर बचाव कार्य में जुटे हुए हैं। एक हजार से अधिक जवान और एक्सपर्ट इस अभियान में हैल्प कर रहे हैं। यह फुटबॉल टीम 23 जून को गुफा देखने गयी थी और वर्षा से आई बाढ़ में फंस गये । इन लड़कों की आयु 11 से 16 वर्ष के बीच के हैं और उनके कोच की आयु 25 वर्ष है।
दो गोताखोरों ने ढूंढा था बच्चों को
ब्रिटिश गोताखोर जॉन वोलेंनथन और रिक स्टैटन रेस्क्यू ऑपरेशन के असली हीरों है। दोनों ने ही गुफा में फंसे बच्चों को सबसे पहले ढूंढा था। यह बच्चे कीचड़ के बीच एक छोटी सी चट्टान पर बैठे हुए मिले थे। जॉन ने जब उनसे पूछा कि आप कितने लोग हों, तो अन्दर से आवाज आई थर्टीन, जॉन और रिक दुनिया के सबसे माहिर गोताखोर हैं । 2004 में दोनों ने ब्रिटेन की बुकी होल गुफा की गहराई में जाकर रिकॉर्ड बनाया था। रिक फायर ब्रिगेड विभाग से रिटायर्ड हैं आर जॉन आईटी सलाहकार है। रिक ने 2004 में मैक्सिकों में  आई बाढ़ में 9 दिन तक फंसे रहें और 6 सैनिकों को बचाया था, रिक को उन्हें बाहर निकालने में 9 घंटे लगेे थे। इसके अलावा 2010 मं फ्रांस की गुफा वहां के गोताखोर एरिक एस्टाबिले की जान की इन्होंने ही बचाई थी आपको बता दें कि वह ऑपरेशन भी 8 दिन तक चला था। हालिया मामले के बाद थाईलैण्ड नेवी ने जैसे ही इनसे संपर्क किया, दोनों तत्काल राजी हो गये आर 27 जून को मौके पर पहुंचकर मिशन शुरू कर दिया था।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*